उत्तराखंड

नानकमत्ता के जंगल में पुलिस ने 6 शराब भट्टियां तोड़ी, 15000 Lit लहन नष्ट

खटीमा: हरिद्वार में जहरीली शराब पीने से 9 लोगों की मौत के बाद पुलिस प्रशासन ने कच्ची शराब के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है. जिसके तहत आज नानकमत्ता थाना क्षेत्र में नानकमत्ता पुलिस ने कच्ची शराब बनाने वालों के खिलाफ जबरदस्त अभियान चलाया. जिसमें पुलिस ने नानकमत्ता के जंगल से सटे इलाकों में कच्ची शराब बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 6 शराब की भट्टियों को तोड़ा है. पुलिस ने मौके से 100 लीटर कच्ची शराब भी बरामद की है.

जहरीली शराब का कहर: हरिद्वार के पथरी थाना क्षेत्र के फूलगढ़ और शिवगढ़ गांव में बीती 10 सितंबर को जहरीली शराब (Haridwar poisonous liquor) पीने से चार लोगों की मौत हो गई थी. जिसके बाद मौत का सिलसिला बढ़ता गया. अबतक 9 लोगों की मौत हो चुकी है. 11 सितंबर को जहरीली शराब कांड के मुख्य आरोपी बिजेंद्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी ने अपनी पत्नी को ग्राम प्रधान का चुनाव जिताने के लिए लोगों को शराब पिलाई थी.

कांग्रेस का आरोप: नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने मौजूदा सरकार पर गंभीर आरोप भी लगाए. उन्होंने कहा राज्य सरकार शराब तस्करी को बढ़ावा दे रही है. यशपाल आर्य ने कहा इतनी घटनाएं होने के बाद भी सरकार का इस ओर कोई भी ध्यान नहीं है, इससे साबित होता है कि मौजूदा सरकार में बैठे हुए लोगों का शराब तस्करों का साथ मिल रहा है. हरिद्वार में जहरीली शराब मामले को लेकर नेता प्रतिपक्ष ने बात कही है.

Leave a Response