विविध

NSG में 100 करोड़ की ठगी के मास्टरमाइंड को पुलिस ने किया गिरफ्तार

गुरुग्राम. देश की सबसे बड़ी सुरक्षा एजेंसी NSG के नाम पर करोड़ों की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. NSG में कॉन्ट्रैक्ट दिलवाने के नाम पर करोड़ों की ठगी के मामले में पुलिस ने मास्टरमाइंड को गिरफ्तार किया है. SIT ने मुख्य आरोपी प्रवीण यादव, उसकी बीवी ममता यादव और बहन रितु यादव व एक अन्य को गिरफ्तार किया है. मास्टरमाइंड प्रवीण यादव ने खुद को डिप्टी कमांडेंट बता पत्नी, जीजा और बहन के साथ मिलकर करोड़ों की ठगी को अंजाम दे डाला.

NSG कैम्पस में 16 किलोमीटर लंबी पैरिफिल रोड, एसटीपी बनाने, सेंट्रल वेयर हाउस के कॉन्ट्रैक्ट दिलवाने के नाम पर 100 करोड़ से ज्यादा की ठगी की वारदात को अंजाम दिया गया. गुरुग्राम पुलिस ने करोड़ों की ठगी मामले में प्रवीण यादव उसकी पत्नी और बहन रितु यादव, जो की एक्सिस बैंक में मैनेजर है व उसके पति नवीन यादव के साथ ही एक्सिस बैंक के खिलाफ मानेसर थाने में 3 अलग-अलग FIR दर्ज हुई हैं. अलग-अलग पीड़ित कंपनियों की शिकायत पर मामला दर्ज कर पुलिस ने तफ़्तीश शुरू कर दी है.

मुख्य आरोपी प्रवीण यादव पर आरोप की इसने अपनी बहन रितु जोकि एक्सिस बैंक में मैनेजर है, उसकी मदद से एक्सिस बैंक में NSG हेडक्वॉर्टर के नाम से फर्जी अकाउंट खुलवा करोड़ों की ठगी कर फरार हो गया था.

18 करोड़ कैश और चार लग्जरी गाड़ियां बरामद 

दरअसल गुरुग्राम पुलिस को 3 नामी कंपनियों ने लिखित शिकायत दे गुहार लगाई की प्रवीण यादव नाम के शख्स ने खुद को डिप्टी कमांडेंट बता NSG कैंपस में पैरिफिल रोड बनाने, एसटीपी (सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट) का निर्माण और हाउसिंग फ्लैट्स बनाने को लेकर फर्जी दस्तावेजों, एनएसजी कैंपस स्थित एक्सिस बैंक में NSG हेडक्वार्टर के नाम से अकाउंट खुलवाकर करोड़ों रुपये पीड़ित कंपनियों से ट्रांसफर करवाए और ठगी कर फरार हो गया. पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों की निशानदेही पर 18 करोड़ रुपए की राशि और 4 लग्जरी गाड़ियां भी कब्जे में ली हैं.

फर्जी दस्तावेज की काॅपी, जिसमें NSG का लेटरहेड इस्तेमाल किया

शिकायतकर्ताओं की माने तो वारदात का मास्टरमाइंड प्रवीण यादव पीड़ित कंपनियों से जून 2020 में मिला और खुद को IPS अधिकारी बता NSG में ऑन डेपुटेशन पर डिप्टी कमांडेंट होने की बात भी कही. जिसके बाद पीड़ित लोग इसके झांसे में आते चले गए. इस मामले में एसीपी क्राइम की माने तो प्रवीण यादव ने NSG परिसर में ही कई मीटिंग्स कर पीड़ित कंपनियों को विश्वास में लिया और करोड़ों रुपये एनएसजी हेडक्वॉर्टर के नाम से बनाये गए फर्जी अकाउंट्स में ट्रांसफर करवा लिये, इसके बाद पीड़ितों को चक्कर कटवाने शुरू कर दिए.

पुलिस की की माने तो परवीन यादव की बहन रितु यादव जो कि एनएसजी कैम्पस में स्थित एक्सिस बैंक की मैनेजर के पद पर तैनात हैं, उसकी मदद से फर्जी अकाउंट एनएसजी हेडक्वार्टर के नाम से खुलवा करोड़ो की धोखाधड़ी ठगी को अंजाम दे डाला.

मामला NSG हेडक्वार्टर से जुड़ा, इसलिए SIT कर रही जांच 

मामला एनएसजी कैम्पस से जुड़ा था, लिहाजा गुरुग्राम पुलिस ने मामला दर्ज कर एसआईटी का गठन कर वारदात में शामिल प्रवीण यादव, ममता यादव, रितु यादव व एक अन्य को गिरफ्तार कर करोड़ों की ठगी का खुलासा कर दिया. बहरहाल गुरुग्राम पुलिस ने प्रवीण यादव उसकी बीवी ममता यादव उसकी बहन रितु यादव एक्सिस बैंक और उसके जीजा नवीन यादव के खिलाफ मामला दर्ज कर मामले की तफ़्तीश शुरू कर दी है.

Leave a Response