देश/प्रदेश

PM मोदी ने की CSIR के बैठक की अध्यक्षता

नई दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) की बैठक की अध्यक्षता की।वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए पीएम मोदी ने CSIR द्वारा किए गए कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने संस्था द्वाराकिए गए कार्यों की सराहना की और भविष्य के रोड मैप को चार्ट करने के लिए अपने सुझाव भी दिए।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 जी, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और नवीकरणीय ऊर्जा भंडारण के लिए सस्ती और लंबे समय तक चलने वाली बैटरी को सूचीबद्ध किया, जो कि उभरती चुनौतियों में से कुछ हैं, जिन पर वैज्ञानिकों को ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

 

नई दिल्ली में सीएसआईआर की वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद की बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रधान मंत्री ने विश्व स्तर के उत्पादों को विकसित करने के लिए पारंपरिक ज्ञान और आधुनिक विज्ञान के संयोजन की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। उन्होंने इनोवेशनॉ के व्यावसायीकरण के महत्व के बारे में भी बताया।

इस बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने वर्चुअल लैब बनाए जाने की सिफारिश की जिससे देश में छात्रों की विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ सके। पीएम मोदी ने युवा छात्रों को विज्ञान की ओर आकर्षित करने और अगली पीढ़ी में वैज्ञानिक कौशल को मजबूत करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया।

पीएम मोदी ने इस दौरान दुनिया के विभिन्न हिस्सों में काम करने वाले भारतीयों के बीच, अनुसंधान और विकास परियोजनाओं में सहयोग बढ़ाने के उपाय भी सुझाए।उन्होंने वैज्ञानिकों से भारत की आकांक्षा संबंधी जरूरतों पर काम करने के लिए कहा, कृषि उत्पादों और जल संरक्षण पर ध्यान केंद्रित करके कुपोषण जैसे सामाजिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए सीएसआईआर की आवश्यकता है।

 

इस बैठक के दौरान प्रधान मंत्री को सीएसआईआर द्वारा किए गए कार्यों का अवलोकन दिया गया। उन्होंने किए गए कार्यों की सराहना की और भविष्य के रोड मैप को चार्ट करने के लिए अपने सुझाव भी दिए। प्रधान मंत्री ने सीएसआईआर में वैज्ञानिक समुदाय को आम आदमी के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए काम करने का आह्वान किया।

 

विशेष