देश/प्रदेश

पीएफ में घपला करने वाले स्कूलों और अस्पतालों पर गिरेगी गाज

हल्द्वानी: कर्मचारी भविष्य निधि ( ईपीएफओ) विभाग ऐसे स्कूलों और अस्पतालों पर शिकंजा कसने जा रहा है, जिनके पास 20 से अधिक कर्मचारी कार्य कर रहे हैं और ईपीएफओ विभाग में पंजीकृत नहीं हैं. कुमाऊं मंडल के 276 निजी स्कूलों में मात्र 133 स्कूल ईपीएफओ विभाग में पंजीकृत हैं.

ऐसे में विभाग इन स्कूलों को नोटिस जारी कर कार्रवाई करने जा रहा है. विभाग पहले चरण में स्कूलों पर जबकि दूसरे चरण में अस्पतालों पर कार्रवाई करेगा.

सहायक आयुक्त ईपीएफओ विभाग उदित शाह ने बताया कि स्कूलों और अस्पतालों द्वारा शिकायत आ रही थी कि उनके कर्मचारियों के पीएफ जमा नहीं कराए जा रहे हैं.

ऐसे में विभाग अभियान के तहत स्कूलों और अस्पतालों पर शिकंजा कसने जा रहा है जो ईपीएफओ विभाग में पंजीकृत नहीं हैं. उन्होंने बताया कि पहले चरण में स्कूलों पर कार्रवाई की जानी है जिसके तहत स्कूलों की लिस्ट मंगा ली गई है.

साथ ही ऐसे स्कूलों को नोटिस जारी किया जाएगा.उन्होंने बताया कि 20 से अधिक कर्मचारी वाले स्कूलों और अस्पतालों को ईपीएफ विभाग में पंजीकरण करना अनिवार्य है, लेकिन शिकायत आ रही हैं कि कई अस्पताल और स्कूल ऐसे हैं जो जिनके पास 20 से अधिक कर्मचारी है,

लेकिन ईपीएफओ विभाग में पंजीकृत नहीं हैं. जिनके द्वारा कर्मचारियों की हकों की अनदेखी की जा रही है. उन्होंने बताया कि ऐसे स्कूलों को अब नोटिस जारी किया जा रहा है. साथ ही जो भी स्कूल या अस्पताल ईपीएफओ विभाग में पंजीकरण नहीं कराएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

विशेष