देश/प्रदेश

मार्ग बंद होने से यात्रियों की बढ़ी दुश्वारियां, वाहन चालक व होटल संचालक काट रहे चांदी

पिथौरागढ़ : घाट के निकट दिल्ली बैंड के पास हाईवे बंद होने से जहां सफर कर रहे लोग परेशान हैं, वहीं प्रशासन की तरफ से किसी तरह की व्यवस्था नहीं किए जाने से वाहन चालक सहित होटल वाले यात्रियों को लूट रहे हैं। राम गंगा नदी पर झूला पुल पार कर तीन किमी चलने के बाद दूसरी तरफ पहुंच रहे यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने के लिए वाहन नहीं मिल रहे हैं। मात्र 28 किमी की दूरी का दो सौ रु पया किराया लिया जा रहा है।

हाईवे बंद करने के बाद खटीमा, टनकपुर, चम्पावत, लोहाघाट के अलावा अल्मोड़ा व हल्द्वानी आदि स्थानों से वाहन घाट के पास पहुंच रहे हैं। जहां पर मार्ग बंद होने के कारण यात्री अपनी पीठ पर सामान ढोकर झूला पुल पार कर लगभग डेढ़ किमी की चढ़ाई चढ़ कर पिथौरागढ़ जिले में पहुंच रहे हैं। जहां आते ही यात्रियों की फजीहत हो रही है। यहां से पिथौरागढ़ की दूरी मात्र 27 किमी है और इसका किराया दो सौ रु पये लिया जा रहा है।

चाय बीस व भोजन डेढ़ सौ रुपया घाट के पास मार्ग बंद होने से यहां पर फंसे यात्रियों को फजीहत झेलनी पड़ रही है। यहां पर कुल दो से तीन होटल हैं। जिनमें अब चाय तक बीस रु पये हो चुकी है। भोजन सौ रु पये से बढ़ा कर डेढ़ सौ रु पये कर दिया गया है। वह भी नहीं मिल रहा है।

परेशान महिला का टूटा सब्र का बांध खटीमा से पहुंची एक महिला का आक्रोश फूट गया। महिला दीपा धामी ने बताया कि वह खटीमा से ढाई सौ रु पये देकर घाट तक पहुंची। वहीं घाट से पैदल चल कर झूला पुल पार कर जब दूसरी तरफ पहुंची तो टैक्सी वाले ने पिथौरागढ़ पहुंचाने के लिए दो सौ रु पये किराया मांगा। यहां पर सबसे पहले तो पिथौरागढ़ की तरफ कम ही टैक्सी वाले पहुंच रहे हैं। टैक्सी वाले महंगे किराए में कुछ यात्रियों को लेकर पिथौरागढ़ को आ रहे हैं। उन लोगों को जिनके पास बाल, बच्चे और सामान है ये यात्री लंबा सफर करने के बाद फंसे हुए हैं। कुछ लोग तो पैदल पिथौरागढ़ की तरफ आ रहे हैं।मार्ग बंद होने के कारण सेना का वाहन भी फंस गया । मार्ग नहीं खुलने की दशा को लेकर वाहन वापस लौटा ।

 

विशेष