देश/प्रदेश

पहाड़ों में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त पिछले चार दिन से हो रही है लगातार बारिश

राजेन्द्र सिह चौहान
मोरी उत्तरकाशी

क्षेत्र में हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त पिछले चार दिन से हो रही है लगातार बारिश

। ऊँचाई व मध्य ऊँचाई वाले क्षेत्रों में हो रही है जमकर बर्फबारी निचले व क्षेत्रों में हो लगातार बारिश होने से क्षेत्र में शीतलहर का प्रकोप । शीतलहर से बागवानों के लिए शुभ संकेत नहीं लगते।सताने लगी रही है चिंताएं । बेमौसमी बर्फबारी व बारिश से सेब की फसल पर पडेगा सकता है असर।
बारिश के चलते मोरी तहसील के आराकोट चिवां मोटर मार्ग पर जगह जगह मलवा आने से व पेड गिरने से पूर्ण रूप से बंद हो गया है । वैसे भी यह मोटर मार्ग अगस्त 2019 में दैवीय आपदा में पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो चुका था उस समय यह मार्ग एक माह पश्चात ही यातायात के लिए खुला।
इस समय भारी बारिश से पुनः बंद हो गया है ।अगर मौसम साफ रहता है तो दो से तीन दिन और लगेगे मार्ग को खोलने में । सम्पूर्ण क्षेत्र का समपर्क तहसील मुख्यालय व जिला मुख्यालय से कटा है विधुत आपूर्ति भी बाधित हो रखी है । नेटवर्क की सुविधा भी प्रभावी हो रखी है ।
आराकोट चिवां मोटर मार्ग के साथ-साथ टिकोची वरनाली माकुडी मोटर मार्ग भी भारी बारिश से क्षतिग्रस्त है माकुडी गाँव में तो घरों के स्लाईड होने की ग्रामीणों को चिंताए सताने लगी है । माकुडी गाँव के निवासी एम एस रावत के घर के निचे लगातार भूस्खलन हो रहा है । जिससे उन के आवासीय भवन को खतरा हो गया है। वैसे बी अगस्त 2019 की आपदा में माकुडी गाँव में ही सबसे अधिक नुकसान हुआ है बदल गाँव के ऊपर ही फटा था । माकुडी गाँव में सबसे अधिक जन हानी भी हुई थी । अभी उसी की भरपाई नही हुई थी ।लेकिन फिर भूस्खलन से चिंताए सताने लगी है ।
उधर लोक निर्माण विभाग पुरोला के अधिशिसी अभियंता धीरेन्द्र कुमार का कहना है कि मौसम साफ होते ही सभी मोटर मार्गों को खोलने का काम किया जायेगा ।

विशेष