राष्ट्रीय

स्थानीय उत्पादों की बिक्री के लिए शुरू हुआ विकास भवन में आउटलेट

रुद्रप्रयाग दिलबर सिंह बिष्ट

स्थानीय उत्पादों की बिक्री के लिए विकास भवन में आउटलेट शुरू हो गया है। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने आउटलेट का उद्घाटन किया। आउटलेट के माध्यम से उपभोक्ता/ ग्राहकों को एक ओर शुद्व जैविक उत्पाद उपलब्ध हो रहे है, वही स्थानीय काश्तकारों/ स्वयं सहायता समूह को बाजार मिलने से उनकी आर्थिकी सशक्त होगी।

विकास भवन में आउटलेट का उद्घाटन करते हुए जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि स्थानीय शुद्व जैविक उत्पादों को बाजार उपलब्ध कराने तथा काश्तकारों की आर्थिकी को सुदृढ करने के लिए आउटलेट की व्यवस्था की गई है।

इससे पहाड़ के उत्पादों को विपणन मिलेगा व लोगों के स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। हमारे पहाड़ी उत्पाद मंडुआ, झंगोरा, रयांस,मंडुआ के कुरकुरे, बिस्किट व आदि उत्पाद तैयार किये गए है जो कि शरीर के लिये उत्तम के साथ-साथ औषधीय गुणों से भरपूर है।

कहा कि काश्तकार/ स्वयं सहायता समूह तमाम मुश्किलों के बाद अपना उत्पाद ग्रामीण क्षेत्रों से बाजार तक तो पहुंचाते हैं, लेकिन उन्हें उत्पादों का सही दाम नहीं मिल पाता है। काश्तकारों को उचित लाभा पहुॅचाने तथा ग्राहकों तक उतपादो को पहुचने हेतु आउटलेट की व्यवस्था की गई है।

जिलाधिकारी की इस पहल से स्थानीय काश्तकार खासे उत्साहित है और उन्होंने इस पहल की जमकर सराहना भी की है।जिलाधिकारी के प्रयासों से जहाॅ काश्तकारों में एक नया जोश और उम्मीद की किरन जगी है, वही आने वाले समय में निश्चित रूप से इस आउटलेट से काश्तकारों को बहुत फायदा मिलेगा।

आउटलेट के उद्घाटन के अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सरदार सिंह चौहान, जिला उद्यान अधिकारी योगेंद्र सिंह, मुख्य कृषि अधिकारी सुघर सिंह,आजीविका परियोजना प्रबन्धक डॉक्टर मोहम्मद आरिफ सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी व स्वयं सहायता समूह की महिलायें मौजूद थी।

विशेष