Latest Newsउत्तराखंड

देहरादून में ओमिक्रॉन की आहट ! अब मिले कोरोना पॉजिटिव

उत्तराखंड़ (Uttarakhand) की राजधानी देहरादून (Dehradun) में कोरोना के नए वेरिएंट Omicron का खतरा तेजी से बढ़ गया है. ऐसे में राजपुर में एक अपार्टमेंट में रहने वाले बुजुर्ग दंपत्ति कोरोना संक्रमित निकले हैं. जहां दंपति बीते 13 दिसम्बर को अपने परिजनों के पास 4 दिन रहकर आए हैं. जिनमें से कुवैत से लौटे देहरादून के एक दंपती के 3परिजन दिल्ली में ओमिक्रॉन से संक्रमित मिले हैं. उनसे मिलकर देहरादून लौटे सीनियर सिटीजन दंपती का जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर सैंपल RT-PCR जांच के लिए भेजा गया. हालांकि जांच में दोनों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है. हालांकि बिल्डिंग के अपार्टमेंट को सील कर दिया गया है. वहीं, दंपति की 2 नौकरानियों के भी सैम्पल लिए गए हैं. फिलहाल CMO डा. मनोज उप्रेती ने बताया कि बुजुर्ग दंपति 9 से 13 दिसम्बर तक दिल्ली में अपने परिवार से मिलकर लौटे हैं.

दरअसल, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दिल्ली में संबंधित क्षेत्र के स्वास्थ्य अधिकारियों से संपर्क किया और दंपती का कोरोना जिनोम सिक्वेंसिंग की जांच के लिए सैंपल राजकीय दून मेडिकल कॉलेज पटेलनगर की वायरोलॉजी लैब भेजा गया है. उन्होंने बताया कि उनके परिवार के तीन सदस्यों में ओमिक्रॉन संक्रमण की पुष्टि हुई है. जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बुजुर्ग दंपति राजपुर रोड स्थित प्रथन्ना वैली अपार्टमेंट में रहता है. वहीं, ये लोग ओमिक्रॉन संक्रमित व्यक्तियों के हाई रिस्क कान्टेक्ट है. क्योंकि ये लोग ओमिक्रॉन संक्रमित के संपर्क में आए हैं, इसलिए जिस अपार्टमेंट में वह रह रहे हैं उसका एक फ्लोर कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है. जिला प्रशासन को इसकी आदेश प्रति भेज दी गई है.

बीते दिनों इंग्लैंड से लौटी एक महिला पाई गई कोरोना संक्रमित

बता दें कि इससे पहले इंग्लैंड से लौटी एक महिला कोरोना संक्रमित पाई गई है. ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने घर को माइक्रो कंटेनमेंट जोन बना दिया है और जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए सैंपल दून मेडिकल कॉलेज को भेजा गया है. वहीं, जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. राजीव दीक्षित ने बताया कि महिला बीते 11 दिसंबर को यहां लौटी थी. वहीं, 14 दिसंबर को वह एक प्राइवेट लैब में जांच कराने को संक्रमित पाई गई. उनकी जांच दून मेडिकल कॉलेज में कराई गई, जिसमें वह फिर से संक्रमित मिली है. हालांकि अब उनका सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा गया है, जिससे वैरिएंट का पता लगाया जा सके.

दून अस्पताल में कोरोना संदिग्ध मरीजों के लिए शुरू हुआ नया वार्ड

गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते खतरे और मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन ने दून अस्पताल में कोरोना संदिग्ध मरीजों के लिए आयुष्मान बिल्डिंग में नया वार्ड शुरू कर दिया गया है. जहां कार्यवाहक एमएस डॉक्टर एनएस खत्री ने बताया कि सोमवार से लोअर आयुष्मान वार्ड को संदिग्धों के लिए खोल दिया गया है.

Leave a Response