राष्ट्रीय

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम पर बने मंदिर में चढ़ावा आना हुआ शुरू

अयोध्या. धर्मनगरी अयोध्या को विश्व के मानचित्र पर स्थापित करने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार जी जान से लगी हुई है. प्रदेश सरकार के प्रयास पिछले कुछ वर्षों से दिखाई भी दे रहे हैं. यही वजह है कि, 2024 तक करोड़ों भक्तों के मन में बसने वाले भगवान राम अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर में विराजमान हो जाएंगे. गर्भ गृह में विराजमान होने के बाद वहीं से भक्तों को दर्शन देंगे.

500 वर्ष के कठिन संघर्ष के बाद रामनगरी अयोध्या में राम मंदिर बनने का स्वप्न साकार हो रहा है. इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से प्रभावित होकर प्रभाकर मौर्य नाम के श्रद्धालु ने राम मंदिर से पहले सीएम योगी का ही मंदिर बनवा दिया है. राम जन्म भूमि से लगभग 25 किलोमीटर दूर प्रयागराज हाइवे पर मौर्य का पुरवा में श्री योगी मंदिर बनाया गया है. इसका निर्माण प्रभाकर मौर्य ने कराया है. यहां प्रतिदिन योगी आदित्यनाथ का विधि विधान से पूजा और आरती उतारी जाती है.

मंदिर पर चढ़ाया सवा किलो चांदी का छत्र
सीएम योगी आदित्यनाथ का मंदिर बनाए जाने जानकारी लगते ही नवनिर्माण सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित जानी मंदिर पहुंचे. यहां पहुंचे पर अमित जानी ने पूजा-अर्चना की और सवा किलो चांदी का छत्र भी चढ़ाया. अमित जानी ने कहा कि प्रभाकर मौर्य का यह कार्य देश और प्रदेश के लिए गौरव का विषय है. हमें जैसे ही योगी आदित्यनाथ जी का मंदिर बनने की जानकारी मिली हम खुद को रोक नहीं पाए और यहां चले आए. उन्होंने कहा कि संन्यासी, साधू या किसी देवी-देवताओं के मंदिर पर चढ़ावा चढ़ता है. ठीक उसी प्रकार से यहां भी चढ़ावा चढ़ाया गया है.

Leave a Response