देश/प्रदेश

एनएसयूआइ ने मशाल जुलूस निकाल केंद्र सरकार का किया विरोध

देहरादून,भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआइ) ने दिल्ली के जामिया इस्लामिया विवि के छात्रों पर लाठीचार्ज के विरोध में सोमवार को मशाल जुलूस निकाला। जुलूस राजपुर रोड स्थित कांग्रेस भवन से घंटाघर तक निकाला गया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

एनएसयूआइ कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि नागरिकता संशोधन एक्ट के विरोध में शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर दिल्ली पुलिस ने बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज किया, जिससे स्थिति तनावपूर्ण बनी। पुलिस ने विवि कैंपस के अंदर आंसू गैस के गोले भी दागे। पुस्तकालय और छात्रवास में घुसकर बेकसूर छात्र-छात्रओं पर लाठीचार्ज किया।

आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस ने यह सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के इशारे पर किया। कहा कि एनएसयूआइ इस एक्ट का कड़ा विरोध करती है। इसमें भारतीय संविधान के समानता के अधिकार को ताक पर रखा गया है। एनएसयूआइ इस कानून के विरोध में देशव्यापी प्रदर्शन करेगी। जुलूस में प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी, महासचिव आयुष गुप्ता, संदीप कुमार, जिला अध्यक्ष सौरभ ममगाईं, पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष सोनू कुमार, हिमांशु रावत, आदित्य बिष्ट, विजय बिष्ट आदि मौजूद रहे।

नागरिकता संशोधन एक्ट के विरोध में एनएसयूआइ ने डीएवी पीजी कॉलेज में केंद्र सरकार का पुतला फूंका। वहीं देशभर में छात्र-छात्रओं के विरोध को अपना समर्थन दिया। प्रदर्शन के दौरान वक्ताओं ने कहा कि जामिया इस्लामिया विवि में शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने जिस तरह बल प्रयोग किया, वह शर्मनाक है। आरोप लगाया कि पुलिस ने छात्र- छात्रओं को विवि कैंपस के अंदर घुसकर पुस्तकालय व हॉस्टल में बुरी तरह पीटा और आंसू गैस के गोले बरसाए गए। जिससे कई छात्र-छात्रएं घायल हुए।

विशेष