राष्ट्रीय

अब उत्तर प्रदेश के मदरसों में बच्चो को केवल TET पास शिक्षक ही पढ़ा सकेंगे

Madarsa Education UP: मदरसा मॉडर्नाइजेशन स्कीम के तहत अब TET पास शिक्षक ही मदरसों में शिक्षक के तौर पर भर्ती किए जाएंगे. भर्ती के लिए नियमावली में अब जल्‍द संशोधन किया जाएगा. सरकार मदरसों में दीनी तालीम कम कर हिंदी, अंग्रेजी, विज्ञान, गणित, समाजिक विज्ञान जैसे विषयों पर फोकस करेगी.

सरकार ने निर्णय लिया है कि मदरसों में अब 20% दीनी शिक्षा और 80 फीसदी आधुनिक शिक्षा कराई जाएगी. आलिया स्तर की मदरसों में एक शिक्षक रहेगा, कक्षा 5 तक के मदरसों में 4 शिक्षक रहेंगे, कक्षा 6 से 8 तक में 2 और कक्षा 9 और 10 स्तर के मदरसों में 3 शिक्षक मॉडर्न एजुकेशन पढ़ाने के लिए रखे जाएंगे.

शिक्षकों की भर्ती के लिए टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (TET) लिया जाएगा इसके बाद वह पढ़ा सकेंगे. स्‍टेट टीईटी पास उम्‍मीदवार ही मदरसों में शिक्षक भर्ती के लिए पात्र होंगे. अभी तक मदरसे में पढ़ाने वाले खुद शिक्षक बन जाया करते थे. इसके अलावा दीनी शिक्षा 80 फीसदी होती थी मॉर्डन शिक्षा 20 फीसदी. सरकार ने अब मदरसा मॉर्डनाइजेशन के तहत इस व्यवस्‍था में सुधार लाने की कवायद की है.

मदरसा शिक्षा में सुधार करने के लिए बीते सप्‍ताह यूपी सरकार ने UP Madarsa E-Learning मोबाइल ऐप्‍प भी लॉन्‍च की है. इसकी मदद से बच्‍चे ट्रेडिशनल तरीके के अलावा मोबाइल की मदद से भी पढ़ाई कर सकेंगे. इसका उद्देश्‍य बच्‍चों को डिजिटल शिक्षा से जोड़ना और जरूरी सुविधाएं उपलब्‍ध कराना है. इस ऐप्‍प पर स्‍टूडेंट्स नाइट क्‍लासेज़ भी अटेंड कर सकेंगे और अपनी सहूलियत के अनुसार कोई भी क्‍लास पढ़ सकेंगे.

Leave a Response