राष्ट्रीय

PLI Scheme से भारत में तैयार होगी अरबपतियों की नई फौज,

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए परफॉर्मेंस लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम की घोषणा की थी. पिछले कुछ सालों में भारत की मैन्युफैक्चरिंग प्रक्रिया में तेजी आई है. विंटेज के चीफ स्ट्रेटजी एवं ट्रेनिंग ऑफिसर मार्क डे विलियर्स ने कहा है कि परफॉर्मेंस लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम या पीएलआई स्कीम से देश में अरबपतियों की संख्या बढ़ सकती है. उन्होंने कहा है कि एक दशक पहले भारत में 55 अरबपति थे जबकि अब इनकी संख्या बढ़कर 140 पर पहुंच गई है.

फाइनेंस सर्विस इंडस्ट्री में करीब 30 साल का अनुभव रखने वाले मार्क ने कहा, “मैन्युफैक्चरिंग और टेक्नोलॉजी सेक्टर से आने वाले दिनों में कई बड़े नाम सामने आ सकते हैं. भारत सरकार ने देश में निर्माण को बढ़ावा देने के लिए पीएलआई स्कीम शुरू की है और इसकी वजह से मैन्युफ़ैक्चरिंग और टेक्नोलॉजी सेक्टर में उद्यमियों की फौज खड़ी हो सकती है.”

मार्क ने कहा है कि शेयर बाजार की चाल के बारे में छोटी अवधि के बारे में बताना मुश्किल है. उन्होंने कहा है कि छोटी अवधि में शेयर बाजार में नेगेटिव ट्रेंड जारी रहने की आशंका है क्योंकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई ऐसी घटनाएं हो रही हैं जिनसे शेयर बाजार सबक ले रहा है.

मार्क ने कहा है कि सितंबर तिमाही में भारतीय कंपनियों के नतीजे शानदार रह सकते हैं. उन्होंने कहा है कि कई ऐसी कंपनियां सामने आ सकती हैं जिनके बारे में लोगों को पहले अंदाजा नहीं था लेकिन उनके शानदार नतीजे देखकर लोग चौंक जाएंगे. मार्क ने कहा है कि रुपए की कमजोरी आयात कर प्रोडक्ट बनाने/बेचने वाली कंपनियों का मुनाफा घटा सकती है.

मार्क ने कहा है कि पिछले कुछ महीने से सोने के भाव में लगातार कमजोरी है और आने वाले दिनों में भी इसमें कमजोरी दर्ज की जा सकती है. मार्क ने कहा, “भारत के लिए पीएलआई स्कीम गेमचेंजर साबित हो सकता है. इलेक्ट्रॉनिक, स्पेशल स्टील और ऑटो सेक्टर में पीएलआई से काफी मदद मिलने वाली है. इसका असर शेयर बाजार पर भी देखा जाएगा.”

मार्क ने कहा है कि भारतीय कंपनियों के कारोबार की ग्रोथ में पीएलआई स्कीम काफी मददगार साबित हो सकती है.

Leave a Response