उत्तराखंड

खेती, पशुपालन, रोजगार और महिला सशक्तिकरण पर फोकस करने की जरुरत -DM

पौड़ी : जिलाधिकारी डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में वार्षिक जिला योजना 2022-23 तथा सांसद आदर्श ग्राम योजना की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों से जिला योजना के प्रस्तावों व कार्यो का विभागवार औचित्य का विवरण प्राप्त करते हुए उसमें यथोचित सुधार तथा संशोधन करने के निर्देश दिये। उन्होंने समस्त विभागों को योजना के निर्माण में विधानसभावार व विकासखंडवार के साथ-साथ विभिन्न श्रेणी के लाभार्थियों में उचित सन्तुलन रखने तथा लोगों की आजीविका में सहायक, पर्यावरण, खेती, पशुपालन, रोजगार, सामाजिक सुरक्षा, महिला सशक्तिकरण इत्यादि पर फोकस रखते हुए प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने प्रत्येक विभाग को अनिवार्य रूप से इनोवेटिव कार्य, छोटे जो इसी वित्तीय वर्ष में पूर्ण हो सकते हैं उनके प्रस्ताव निर्मित करने, कलस्टर व फोकस एरिया को ध्यान में रखते हुए प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कृषि विभाग व उद्यान विभाग को एससीपी/टीएसपी मद में भी धनरशि का प्रावधान रखने, फसल प्रदर्शन मद में भी धनराशि की बढ़ोतरी करने तथा कलस्टर वाइज विकास कार्यो को अमलीजामा पहनाने के निर्देश दिये। उन्होंने पशुपालन विभाग को इक्यूवेशन सेंटर डेवलप करने तथा प्रोडेक्शन क्षमता बढ़ाने के निर्देश दिये। साथ ही मत्स्य विभाग को समस्त विकासखंड़ो में कृषि व उद्यान विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए पानी के टैंक तथा फिशरी उत्पादन के प्लांट लगाने के निर्देश दिये।

उन्होंने रेशम विभाग को स्थानीय स्तर पर ही खुद ही रेशम का धागा तैयार करने का प्लांट लगाने तथा उत्पादन क्षमता में बढ़ोतरी करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने पर्यटन विभाग को पर्यटन से संबंधित कार्यो में एकीकृत मॉडल डिजाइन करते हुए कार्य करने को कहा। साथ ही उन्होंने समस्त विभागों को निर्देशित किया कि मा0 प्रभारी मंत्री या किसी जनप्रतिनिधियों द्वारा ली जाने वाली बैठकों में किसी भी कार्य के तीन चरणों में कार्य से पूर्व, कार्य प्रारंभ तथा कार्य पूर्ण होने पर फोटोग्राफ्स उपलब्ध कराने को कहा। साथ ही उन्होंने एक-एक पृष्ठ का संपूर्ण योजनाओं तथा कार्यो का संक्षिप्त विवरण तैयार करके बैठक में प्रतिभाग करने को कहा तथा जिसमें लाभार्थियों का भी विवरण समिलित हो।

इसके अलावा जिलाधिकारी ने सांसद आदर्श ग्राम योजना की समीक्षा करते हुए गतिमान कार्यो की वित्तीय तथा भौतिक प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने डीपीआर बनाने, प्राथमिकताओं का निर्धारण, गतिमान कार्यो में तेजी लाने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होंने 16 जुलाई को हरेला पर्व पर वृक्षारोपण करने वाले विभागों को वृक्षारोपण की रूपरेखा बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि वृक्षारोपण के साथ-साथ वृक्षों को बचाने पर भी फोकस करें।

इस अवसर पर डीएफओ मुकेश कुमार, जिला विकास अधिकारी पुष्पेंद्र सिंह चौहान, अर्थ एवं संख्याधिकारी राम सलोने, मुख्य कृषि अधिकारी अमरेंद्र चौधरी, मुख्य उद्यान अधिकारी डॉ0 डीके तीवारी, अधीशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग डीपी नौटियाल, मुख्य शिक्षाधिकारी डॉ0 आनंद भारद्वाज, जिला क्रिड़ा अधिकारी गिरीश कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Response