देश/प्रदेश

नए साल के जश्न को तैयार मसूरी

देहरादून, क्रिसमस बीत चुका है और अब न्यू ईयर करीब है, ऐसे में नए साल के स्वागत और जश्न को लेकर हर कोई तैयारियों में जुट गया है।

प्रदेश के साथ ही बाहरी पर्यटकों ने भी नए साल के जश्न को खास बनाने के मसूरी का रुख कर लिया है। यहां पर्यटकों का रैला अचानक बढ़ गया।

पहाड़ों की रानी मसूरी में होटल और गेस्ट हाउसों में भी मारामारी शुरू हो गई है। अभी से यहां 80 फीसद होटल बुक हो गए हैं।

नववर्ष का स्वागत जोरदार अंदाज में करने के लिए पर्यटकों की पहली पसंद मसूरी ही रहता है। ऐसे में यहां न्यू ईयर ईव से चार दिन पहले ही बड़ी संख्या में पर्यटक उमड़ने लगे हैं।

इसी का नतीजा है कि नगर के 350 होटलों में से 80 फीसद की बुकिंग हो चुकी है। छोटे एवं मध्यम होटल और अतिथिगृहों की बुकिंग भी इन दिनों पीक पर चल रही है।

हर साल की तरह इस साल भी पहाड़ों की रानी के दीदार को पर्यटकों का हुजूम उमड़ रहा है। पर्यटन, पुलिस और होटल एसोसिएशन के अनुसार मसूरी के 350 होटलों में से 60 फीसद एडवांस में ऑनलाइन बुक हो चुके हैं। इनमें भी नामी एवं बड़े होटलों की बुकिंग तो 80 फीसद तक जा पहुंची है।

मसूरी प्रशासन व होटल संचालकों की ओर से जश्न मनाने आने वालों पर किसी तरह की रोक नहीं लगाई गई है। मगर, पुलिस ने सुरक्षा एवं व्यवस्थाओं के मद्देनजर रात आठ बजे के बाद वाहनों को चेकिंग के बाद ही देहरादून से मसूरी भेजने की सलाह दी है।

इसके अलावा पर्यटकों का पूरा ब्योरा दर्ज करते हुए उन्हें आसपास के पर्यटक स्थलों की जानकारी देने को भी कहा गया है। वहीं माल रोड से लेकर अन्य प्रमुख बाजारों में कड़ाके की ठंड के बावजूद देर रात तक चहलकदमी देखी जा सकती है।

दून में पर्यटकों की लगातार बढ़ रही आमद से शहर का ट्रैफिक सिस्टम बिगड़ता जा रहा है। गुरुवार को दूसरे दिन भी राजपुर रोड से लेकर सहारनपुर रोड पर जाम की स्थिति बनती बिगड़ती रही।

ऐसे में एसएसपी अरुण मोहन जोशी के खुद सड़क पर उतरने का असर यह रहा कि सीओ और थानेदार ट्रैफिक को लेकर अलर्ट रहे, जिससे स्थिति ज्यादा खराब नहीं हो पाई।

उत्तराखंड में तापमान में गिरावट जारी है। इससे पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी का लुत्फ लेने के लिए गैर प्रांतों से लोगों के आने का सिलसिला तेज हो गया है।

बुधवार को शीतकालीन अवकाश शुरू होने से पर्यटकों की संख्या में इजाफा हुआ है। राजपुर रोड पर शाम होते-होते ऐसी स्थिति बनी कि पैदल चलना भी मुश्किल हो गया था।

इसकी जानकारी एसएसपी को मिली तो वह खुद शहर के भ्रमण पर निकले और जहां फोर्स की कमी नजर आई, वहां थानों की फोर्स को तैनात किया।

साथ ही निर्देश दिया कि नए साल तक ट्रैफिक पर विशेष रूप से फोकस किया जाए। इसके बाद भी गुरुवार को सहारनपुर रोड पर सहारनपुर चौक, प्रिंस चौक से लेकर तहसील चौक व घंटाघर और घंटाघर से चकराता रोड व राजपुर रोड पर वाहनों का दबाव अत्यधिक रहा।

विशेष