देश/प्रदेश

सभी जनपदों की सीमाएं सील होने से लोगों की आवाजाही पर लगी लगाम

ऋषिकेश। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने रविवार रात को सभी जनपदों की सीमाएं सील कर दी थी। अब आवश्यक सेवाओं को छोड़कर किसी को भी दूसरे जनपद की सीमाओं में प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है। इससे काफी हद तक लोगों की आवाजाही पर लगाम लगी है।

लॉकडाउन घोषित होने के साथ जनपदों की सीमाओं में अभी तक आवाजाही पर अभी तक कोई प्रतिबंध नहीं था। रविवार को केंद्र सरकार के निर्देश पर राज्य सरकार ने सभी जनपदों की सीमाओं को सील कर दिया है। इसके बाद अब किसी को भी दूसरे जनपद में प्रवेश करने की इजाजत नहीं है।

अब लॉकडाउन के साथ सीमाएं सील होने पर सिर्फ आवश्यक सेवाओं, खाद्यान्न के वाहन व सरकारी सेवाओं में तैनात लोगों को ही सीमाओं से बाहर जाने की इजाजत दी गयी। जबकि अन्य सभी लोगों को सीमा के भीतर ही रोक दिया गया। हालांकि इस दौरान कई लोग मेडिकल और अस्पताल जाने की बात कहते हुए सीमाओं पर पहुंचे। जिनमें से संबंधित प्रपत्र दिखने वालों को ही जाने की अनुमति प्रदान की गई।

तीर्थनगरी में देहरादून, टिहरी, पौड़ी व हरिद्वार जनपद की सीमाएं मिलती है। इसलिए देहरादून पुलिस ने हरिपुरकलां, बैराज, इंद्रमणी बडोनी चौक व मुनिकीरेती में जनपद को जोड़ने वाली सीमाएं सील कर दी थी। वहीं टिहरी जनपद की पुलिस ने भी बाइपास मार्ग पर ढालवाला, चंद्रभागा पुल, चौदह बीघा पुरानी चुंगी व ब्रह्मपुरी तिराहे पर सीमाएं सील की।

सीमाएं सील होने के कारण बाजार में पूर्व की अपेक्षा कम भीड़भाड़ नजर आई। लोगों ने अपने ही जनपद की सीमाओं से जुड़े बाजार व दुकानों में लॉक डाउन की ढील की अवधि में खरीददारी की। सीमाएं सील होने से अधिकांश सड़कें सूनी नजर आई।

 

विशेष