देश/प्रदेश

रुद्रप्रयाग बच्छणस्यूं क्षेत्र के आधा दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने की सड़क मार्ग की मांग

(दिलबर बिष्ट ) रुद्रप्रयाग: बच्छणस्यूं क्षेत्र के आधा दर्जन से अधिक गांव सड़क मार्ग से नहीं जुड़ सके हैं। स्वीकृति के डेढ़ दशक बाद भी दैजीमांडा-पौड़ीखाल मोटरमार्ग निर्माण की बाट जोह रहा है, लेकिन आज तक मोटरमार्ग का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो सका है। जिससे क्षेत्रीय ग्रामीणों को 4 किमी पैदल चलने को मजबूर होना पड़ रहा है। वहीं लोनिवि विभाग की ओर से मोटरमार्ग का निर्माण कार्य पूरा करने के लिए शासन को 2.66 करोड़ का प्रस्ताव स्वीकृति भेजा गया है।

वर्ष 2004 में लोनिवि के तहत पांच किमी दैजीमांडा-पौडीखाल मोटरमार्ग को शासन से स्वीकृति मिली थी। जिसके बाद लोनिवि ने टेंडर प्रक्रिया के माध्यम से समस्त औपचारिकताएं पूरी कर मोटरमार्ग पर निर्माण कार्य शुरू करवाया था। तीन चरणों में हुए निर्माण कार्य के तहत मात्र अभी तक ढ़ाई किमी मोटरमार्ग की कटिग का कार्य ही हो सका है। जबकि ढ़ाई किमी मोटरमार्ग का निर्माण कार्य अभी शेष है। क्षेत्रीय जनता लंबे समय मोटरमार्ग का निर्माण कार्य पूरा करने की मांग करते है, लेकिन अभी तक मार्ग का निर्माण आधा अधूरा पड़ा है। जिससे निषणी, मरगांव, सुनाऊं, पौड़ीखाल, पणधारा, कलेथ, चाम्यू सहित आधा दर्जन से अधिक गांवों को आज भी पैदल चलने को मजबूर होना पड़ रहा है। लोनिवि रुद्रप्रयाग के अधिशासी अभियंता इंद्रजीत बोस का कहना है कि

बच्छणस्यूं क्षेत्र के अन्तर्गत दैजीमांडा-पौड़ीखाल मोटरमार्ग का अवशेष ढाई किमी निर्माण कार्य पूरा करने के लिए शासन से 2.66 करोड़ का आंगणन तैयार कर शासन को भेजा गया है। मार्च माह में बजट की स्वीकृति मिलने की उम्मीद है। शासन से बजट मिलने के बाद ही शीघ्र मोटरमार्ग का निर्माण शुरू किया जाएगा।

विशेष