देश/प्रदेश

देवभूमि के ‘मिनी स्विट्जरलैंड’ में हिमपात से मौसम हुआ सर्द

देहरादून: देवभूमि में मौसम के तल्ख तेवर बरकरार हैं. चारों धाम बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में भारी हिमपात हुआ है. मसूरी के पास धनोल्टी और नागटिब्बा की पहाड़ियों में मौसम का पहला हिमपात हुआ है. ये जो आप तस्वीरें देख रहे हैं, वो रुद्रप्रयाग जिले के चोपता की हैं. इन विहंगम तस्वीरों से आप कड़ाके की ठंड और नजारे का अंदाजा खुद ही लगा लीजिए.

हर तरफ बर्फ के आगोश में पहाड़ और पेड़. इन पहाड़ी क्षेत्रों में हिमपात का असर मैदानी जनपदों में दिखा है. यहां कोहरे ने कई इलाकों को पूरी तरह ढक दिया है. फिलहाल मौसम विभाग ने आशंका जताई है कि शुक्रवार को मौसम के तेवर थोड़ा नरम तो पड़ेंगे, लेकिन रविवार से एक बार फिर मौसम के तेवर तल्ख होने की उम्मीद है.

भारी हिमपात से उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया है. नैनीताल में जमकर ओले गिरे हैं. बर्फबारी और बारिश से नैनीताल में तापमान में तीन से चार डिग्री सेल्सियस की कमी आई है. मसूरी के पास धनोल्टी में इस सीजन की पहली बर्फबारी हो गई है. वहीं, मसूरी में जमकर ओलावृष्टि हुई है. इस वजह से देहरादून तक ठंड का असर नजर आया है. दो दिन के भीतर राजधानी के तापमान में 6.6 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है.

रुद्रप्रयाग जिले की बात करें तो यहां मद्महेश्वर धाम में भी बर्फबारी हुई है. देवभूमि के ‘मिनी स्विट्जरलैंड’ कहे जाने वाले चोपता में भारी बर्फबारी की गवाह ये तस्वीरें हैं. बर्फबारी का आनंद लेने के लिए पर्यटकों ने चोपता का रुख करना भी शुरू कर दिया है.

पहाड़ों की रानी मसूरी के आसपास के क्षेत्र नागटिब्बा, देवलसारी और सरकुंडा देवी की पहाड़ियों सहित धनोल्टी में भी बर्फबारी और ओलावृष्टि से मौसम सर्द हो गया है. इससे पर्यटकों के चेहरे खिल गए हैं. बर्फबारी की खबर पर मसूरी के आसपास के निचले क्षेत्रों से लोगों ने धनोल्टी और मसूरी का रुख करना शुरू कर दिया है. पर्यटक हल्की बर्फबारी का भी जमकर मजा ले रहे हैं.

विशेष