देश/प्रदेश

कोरोना वायरस से बचने के लिए 5 मिनट में घर पर ही बनाएं हैंड सैनिटाइजर

दुनिया भर में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। भारत में अभी तक 4 हजार से ज्यादा पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं। सरकार इसे रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। लेकिन हमें खुद अपनी सुरक्षा का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इससे बचने के लिए हाइजीन मेंटेन रखने की सलाह दी है। खासकर समय के अंतराल में हाथ धोने जरूरी बताया है। कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए सबसे ज्यादा मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया जा रहा है। सैनिटाइजर की बढ़ती मांग को देखते हुए बाजार में इसकी कमी हो गई है। अगर आपके पास भी सैनिटाइजर नहीं है तो आप दवा की दुकान से कुछ चीजें लेकर खुद सैनिटाइजर बना सकते हैं।

घर पर सैनिटाइजर बनाने के लिए आपको किन-किन चीजों की जरूरत होगी?

घर पर सैनिटाइजर बनाना बहुत आसान है। इसके लिए आपको बस नीचे बताई जरूरी सामग्री की जरूरत होगी:

  • आइसोप्रोपिल एल्कोहॉल (isopropyl alcohol)
  • एलोवेरा जेल (aloe vera gel)
  • टी ट्री ऑयल (tea tree oil)

एक अच्छा रोगाणु-रोधक हैंड सैनिटाइजर बनाने के लिए एक भाग एलोवेरा में दो भाग आइसोप्रोपिल एल्कोहॉल को मिलाएं। ये आपको मेडिकल स्टोरी पर आसानी से उपलब्ध हो जाएगा। इसमें कुछ बूंदे टी ट्री ऑयल मिलाएं। स्क्वीज बोटल में इन्हें मिलाकर अच्छे से शेक कर लें। आपका सैनिटाइजर बनकर तैयार है। अब आपका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें एल्कोहॉल की मात्रा 60 प्रतिशत के आसपास रहती है। CDC के अनुसार, अधिकांश कीटाणुओं को मारने के लिए यह न्यूनतम मात्रा है।

घर पर सैनिटाइजर स्प्रे बनाने के लिए आपको निम्नलिखित चीजों की जरूरत होती है:

  • आइसोप्रोपिल एल्कोहॉल (Isopropyl alcohol)
  • ग्लिसरोल या ग्लिसरीन (Glycerol or glycerin)
  • हाइड्रोजन पेरोक्साइड (Hydrogen peroxide)
  • डिस्टिल्ड वॉटर (Distilled water)
  • स्प्रे बॉटल (Spray bottle)

घर पर सैनिटाइजर स्प्रे बनाने का तरीका:

एलोवेरा अपना काम अच्छे से करता है लेकिन यह त्वचा को चिपचिपा कर देता है। सैनिटाइजर स्प्रे की यह विधि कम चिपचिपा करती है। साथ ही डब्लूएचओ ने भी इसे रिकमेंड किया है। इसे बनाने के लिए डेढ़ कप एल्कोहॉल में दो चम्मच ग्लिसरोल मिलाएं। आप ग्लिसरोल को ऑनलाइन खरीद सकते हैं। यह बहुत जरूरी चीज है, क्योंकि इसके इस्तेमाल से लिक्विड मिक्स अच्छे से हो जाता है और हाथ एल्कोहॉल और दूसरे लिक्विड से दूर भी रहते हैं। हालांकि, अगर आपको ग्लिसरोल नहीं मिलता तो आप बाकी की चीजों को मिलाकर सैनिटाइजर बनाएं। इसमें एक चम्मच हाइड्रोजन पेरोक्साइड, एक चौथाई डिस्टिल्ड वॉटर मिलाएं।

अब इस सॉल्युशन को स्प्रे बॉटल में भर दें। यह जेल नहीं, स्प्रे है। इसे सुगंधित करने के लिए आप इसमें एसेंशियल ऑयल भी मिला सकते हैं। बस एक बात का ध्यान रखें इसमें लैवेंडर ऑयल का इस्तेमाल न करें। बाकी आप कोई भी एसेंशियल ऑयल को यूज कर सकते हैं।

घर पर सैनिटाइजर बनाते वक्त बरतें ये सावधानियां

घर पर सैनिटाइजर बनाते वक्त आपको निम्नलिखित सावधानियां बरतनी होंगी:

  • सबसे पहली बात आपको जिसका ध्यान रखना है वो यह है कि आप चीजों को मिक्स करने के लिए जिस भी चीज का इस्तेमाल करें वो बिल्कुल साफ होनी चाहिए।
  • हैंड सैनिटाइजर बनाने से पहले अपने हाथों को अच्छे से साफ कर लें।
  • मिश्रण बनाने के लिए 99% आइसोप्रोपिल एल्कोहल का ही प्रयोग करें। कुछ लोग पानी वाली शराब जैसे व्हिस्की, वोदका का इस्तेमाल करते हैं। बता दें ये सब सैनिटाइजर बनाने के लिए असरदार नहीं होते हैं।
  • सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, सैनिटाइजर को असरकारक बनाना है तो इसमें कम से कम 60 प्रतिशत एल्कोहल होना बेहद जरूरी है।
  • वर्ल्ड हेल्थ ओर्गनाइजेशन के अनुसार, घर पर सैनिटाइजर बनाते वक्त तैयार हुए मिश्रण को कम से कम 72 घंटे के लिए छोड़ देना चाहिए। इससे यदि मिक्सिंग के दौरान कोई बैक्टीरिया पैदा हुए होते हैं तो मर जाते हैं।
  • सैनिटाइजर बनाने के लिए इस्तेमाल की गई चीजों में से एक भी चीज गंदी या साफ नहीं है तो यह असरकारक नहीं हो जाएगा।

हैंड सैनिटाइजर को इस्तेमाल करने का सही तरीका क्या है?

बहुत सारे लोग सैनिटाइजर का इस्तेमाल गलत तरीके से करते हैं। उन्हें इसे सही तरीके से इस्तेमाल करना नहीं आता है। कोई हाथ में इसको अधिक मात्रा में लेने की गलती करता है तो कोई इसकी कम मात्रा लेने की गलती करता है। इन दोनों ही परिस्थितियों में कीटाणुओं का पूरी तरह से सफाया नहीं हो पताा है।

हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते समय दो बातों का ध्यान रखना जरूरी है। पहला यह कि जब भी सैनिटाइजर को हाथ में रब करें तो आपके हाथ बिल्कुल ड्राय होने चाहिए।

सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने का सही तरीका:

सैनिटाइजर से कम से कम 30 सैकेंड तक जरूर हाथों को साफ करें । सीडीसी के अनुसार हाथों को धोते समय लोग कुछ गलतियां करते हैं। देश में बड़ी संख्या में लोग सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के बाद हाथों को सूखे कपड़े या साफ तौलिए से नहीं पोंछते हैं। ऐसा करने से कीटाणु मरते नहीं है और हाथों में ही रह जाते हैं।

इन बातों का भी रखें ध्यान

  • एक हाथ की हथेली से सैनिटाइजर स्प्रे को दूसरे हाथ में लें।
  • अब पूरी तरह से अपने हाथों पर इसे रब करें।
  • सुनिश्चित करें कि आपने अपने हाथों और सारी उंगलियों की सतह को पूरी तरह कवर किया है।
  • 30 से 60 सैकेंड तक सैनिटाइजर को हाथ में रहने दें।

हाथों को धोना और हाथों को सैनिटाइज करना

कोरोना वायरस और दूसरी बीमारियां जैसे फ्लू से बचने के लिए कब हाथों को साबुन से धोना चाहिए और कब सैनिटाइज करना चाहिए। दोनों ही तरीके एक ही उद्देश्य को पूरा करते हैं लेकिन सीडीसी के अनुसार, अपने हाथों को हमेशा साबुन और पानी से वॉश करना चाहिए। यदि आप किसी ऐसी स्थिति में है कि साबुन और पानी आपके पास उपलब्ध नहीं है तब आपको सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना चाहिए।

इन परिस्थितियों में हाथों को धोना बहुत जरूरी होता है:

  • टॉयलेट जाने के बाद
  • खांसने या छींकने के बाद
  • खाने से पहले

हाथों को धोने के लिए सीडीसी द्वारा जरूरी निर्देश:

  • हाथों को धोने के लिए हमेशा चलते पानी का इस्तेमाल करें। ये पानी गर्म और ठंडा कैसा भी हो सकता है।
    पहले अपने हाथों को धोएं इसके बाद पानी को बंद करें।
  • साबुन लगाने के बाद अपने हाथों को 20 सैकेंड तक रब करें। अपने हाथों के पीछे, फिंगर्स के बीच में और नाखूनों में भी स्क्रब करें।
  • पानी चालू करें और हाथों को अच्छे से वॉश कर लें। इसके बाद साफ तौलिए से हाथों को पोछ लें।

विशेष