देश/प्रदेश

लक्सर शहर बना कूड़े का डंपिंग जोन

लक्सर: हरिद्वार की लक्सर नगर पालिका के पास कूड़े के निस्तारण की पुख्ता व्यवस्था नहीं है. पालिका द्वारा हर रोज कूड़े को सड़कों के किनारे ही डाला जा रहा है.

जिसके कारण क्षेत्रवासी डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी और वायरल बुखार की चपेट में आ रहे हैं. जहां-तहां लगा कूड़े का ढेर पूरे सिस्टम की पोल खोलता नजर आ रहा है.

बता दें, लक्सर नगर पालिका की आबादी लगभग 40 हजार है और नगर क्षेत्र में हर रोज कई टन कूड़ा निकलता है. पालिका के पास कूड़ा उठाने के लिए पर्याप्त साधन तो है, लेकिन कूड़े के निस्तारण की कोई व्यवस्था नहीं है. लिहाजा, पालिका द्वारा कूड़े को ज्यादातर नगर की सड़कों के किनारे ही डाल दिया जाता है.

आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि हाइवे के किनारे लगे ये कूड़े के ढेर पालिका प्रशासन की बदइंतजामी की पूरी कहानी बयां कर रहे हैं. स्थानीय निवासी अमित शर्मा का कहना है कि लक्सर क्षेत्र गंदगी का अंबार बन चुका है.

कूड़े व बिगड़ी सफाई व्यवस्था को लेकर जहां एक तरफ नगर के लोग पालिका पर बदइंतजामी ओर लापरवाही के आरोप मढ़ रहे हैं तो वहीं हैरान करने वाली वाली बात यह है कि नगर के वार्ड सभासद पालिका भी अधिशासी अधिकारी की हां में हां मिला रहे हैं.

नगरपालिका के सफाई कर्मचारी इधर-उधर कूड़ा फेंक देते हैं, जिससे क्षेत्र में काफी गंभीर बीमारियां फैल रही हैं. वहीं स्थानीय निवासी अमित परमार का कहना है कि नगर पालिका सभी टैक्स जनता से वसूल रही है, मगर सुविधा के नाम पर कुछ नहीं है. नगरपालिका की ओर से गंदगी के अंबार जगह-जगह दिखाई दे रहे हैं.

इस संबंध में पालिका के अधिशासी अधिकारी गोहर हयात का कहना है कि कूड़ा निस्तारण के लिए लक्सर में एक मिनी प्लांट लगा दिया गया है. लक्सर नगर के तमाम कूड़े के डंपिंग की व्यवस्था रुड़की क्लस्टर में कराई जाएगी. इस बाबत जो एनओसी की मांग की गई थी वह पूरी कर दी गई है. एक दो महीने बाद ही लक्सर से कूड़े को रुड़की के डंपिग ज़ोन में डंप कराया जायेगा.

विशेष