Latest Newsउत्तराखंड

मसूरी में हाइड्रोलिक बैरियर का स्थानीय लोगों ने किया विरोध

मसूरी: नगर पालिका मसूरी प्रशासन ने यातायात को व्यवस्थित करने के लिए प्रतिबंधित समय पर वाहनों की आवाजाही पर पूर्ण रूप से रोकने के लिए झूलाघर पर हाइड्रोलिक बैरियर लगाए जा रहे हैं, जिसका स्थानीय लोगों के साथ कांग्रेस नेता मेघ सिंह कंडारी ने विरोध कर काम रुकवा दिया है. उनका कहना है कि पालिका अध्यक्ष हठधर्मिता दिखा रहे हैं और मसूरी मालरोड के बीचोंबीच झूलाघर के पास हाइड्रोलिक बैरियर लगाए जा रहे हैं, जिससे आने वाले समय में लोगो को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा.

कांग्रेस नेता मेघ सिंह कंडारी और सामाजिक कार्यकर्ता बिल्लू बाल्मीकि ने कहा कि नगर पालिका प्रशासन बिना सोचे समझे काम कर रहा है, जिसका खामियाजा आए दिन लोगों को भुगतना पड़ता है. उन्होंने कहा कि मसूरी मालरोड 2 किलोमीटर की है, जिसमें दोनों ओर बैरियर लगे हुए हैं. ऐसे में नगर पालिका प्रशासन द्वारा दोनों बैरियरों पर सख्ती से पालिका द्वारा बनाए गए नियमों का पालन कराया जाए तो माल रोड में अन्य बैरियर लगाने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी.

उन्होंने कहा कि पूर्व में ही झूला घर के सौंदर्यीकरण के नाम पर उस को ध्वस्त कर कर नए स्वरूप दिया गया था लेकिन आज भी झूलाघर पर काम करने वाले लोग बेघर हैं. वहीं, सड़कों पर अपनी दुकान चलाने को मजबूर हैं. उन्होंने कहा कि कई बार लोगो द्वारा झूला घर के डिजाइन को बदलने की मांग की गई है परंतु पालिका प्रशासन मात्र पैसों की बंदरबांट कर रहा है, जबकि धरातल पर कुछ भी नजर नहीं आ रहा है. अब माल रोड के बीचोंबीच हाइड्रोलिक बैरियर लगाए जा रहे हैं, जिससे कि लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि लगातार स्थानीय लोग हाइड्रोलिक बैरियर का विरोध कर रहे हैं लेकिन पालिका प्रशासन और अध्यक्ष मानने को तैयार नहीं है. ऐसे में अगर हाइड्रोलिक बैरियर लगते हैं तो पुरजोर तरीके से उसका विरोध किया जाएगा लेकिन किसी भी हाल में मालरोड के बीचों बीच बैरियर नहीं लगाने दिये जाएंगे.

Leave a Response