Latest Newsउत्तराखंड

लच्छीवाला नेचर पार्क अब नए स्वरूप में पर्यटकों को कर रहा है आकर्षित

डोईवाला: देहरादून के डोईवाला में स्थित लच्छीवाला नेचर पार्क अब अपने नए स्वरूप में आने के बाद पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। इस पार्क में वन विभाग की ओर से प्राकृतिक धरोहर को संजोकर रखते हुए यहां आने वाले पर्यटकों के लिए तमाम तरह के विकल्प मौजूद हैं। यहां बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक के मनोरंजन एवं वन्यजीव व पर्यावरण की जानकारी के साथ ही पर्यटकों को आकर्षित करने के तमाम तरह के विकल्प मौजूद हैं।

इस पार्क में जहां पहले केवल पर्यटक गर्मियों में नहाने के इरादे से ही आते थे। वहीं अब इसके नए स्वरूप में आने के बाद से यह पर्यटक स्थल 12 महीने पर्यटकों के लिए मनोरंजन के साधन उपलब्ध करा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने कार्यकाल में इस पार्क को सिर्फ नहाने के लिए उपयोग किया जाने वाला पिकनिक स्‍पाट से बदल कर इसे नेचर पार्क के रूप में विकसित कराया। जिसका सुखद परिणाम आज यह है कि पहले के मुकाबले काफी अधिक संख्या में पर्यटक यहां पर आ रहे हैं। जिससे वन विभाग को भी पूर्व से ज्यादा राजस्व की भी प्राप्ति हो रही है। इस पार्क में मनोरंजन के लिए घूमने के साथ ही उत्तराखंड की संस्कृति से लेकर अंग्रेजी शासन काल के समय की तमाम जानकारियां भी यहां पर उपलब्ध हैं।

धरोहर म्यूजियम में मिलेंगी महत्वपूर्ण जानकारियां

इस पार्क में स्थित म्यूजियम जिसको धरोहर नाम दिया गया है। इसके भीतर मनोरंजन के साथ ही कई महत्वपूर्ण जानकारियां विद्यमान है। इस धरोहर म्यूजियम में जाकर हम अपने प्रदेश की पारंपरिक वेशभूषा एवं आभूषण, पारंपरिक बीज एवं अनाज, पारंपरिक उपकरण एवं बर्तन, पारंपरिक चित्रकला, पारंपरिक नृत्य, पारंपरिक वाद्य यंत्र, मुखौटा नृत्य, एपण कला चित्र के साथ ही यहां पर स्क्रीन पर दिखाई जा रही उत्तराखंड की पुरातत्व तस्वीरें, पुरानी महत्वपूर्ण घटनाओं के समाचार, पुरानी ऐतिहासिक घटनाओं के चलचित्र व तमाम जीव जंतु पुष्प के चलचित्र के साथ ही उत्तराखंड के लोग एवं उनकी जीवनशैली, घुमावदार प्रक्षेपण जैव विविधता और परिदृश्य, उत्तराखंड के ऐतिहासिक मानचित्र के अलावा अवश्य संवर्धित वास्तविकता को स्क्रीन के माध्यम से देखा जा सकता हैं।

इसके साथ ही यहां स्थित वीआर रूम में जाने पर थ्रीडी प्रोजेक्टर से स्क्रीन पर चल रहे चलचित्र के साथ हम खुद को भी स्क्रीन पर चलचित्र से जुड़ा देख सकते हैं। जो कि बच्चों के साथ ही बड़ों के लिए भी विशेषकर मनोरंजन का केंद्र है।

पर्यटकों को आकर्षित करता म्यूजिकल फाउंटेन शो

यहां बोटिंग के अलावा म्यूजिकल फाउंटेन शो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। टोपेरी गार्डन में यहां पर प्रदेश के बाहर से लाए गए डिजाइनिंग पेड़ भी आकर्षण का केंद्र है। इसके अलावा यहां बच्चों के लिए विभिन्न प्रकार के झूलों के साथ ही रोज गार्डन के अलावा औषधीय पौधे व तुलसी वाटिका भी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। यहां कई प्रकार के सेल्फी प्वाइंट भी सेल्फी के शौकीन पर्यटकों की पसंद बने हुए हैं। तो वहीं हल्की सी हवाओं के बीच पेड़ों पर टांगी गई वाइंड चिम्स की मधुर संगीत की आवाज एक अलग ही सुहावना एहसास कराती हैं।

Leave a Response