नेतागिरी

विधानसभा बैक डोर भर्ती पर बोले कुंजवाल, नेताओं की सिफारिश पर दी नौकरी

उत्तराखंड विधानसभा में हुई भर्ती मामले (assembly appointment case) में पूर्व अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के साथ ही गोविंद सिंह कुंजवाल (Govind Singh Kunjwal) के कार्यकाल में हुई भर्तियों पर भी सवाल उठ रहे हैं. दोनों के कार्यकाल के दौरान विधानसभा में नियुक्ति पाए लोगों की सूची पर सवाल खड़े हो गए हैं. मामले पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल का बयान (Govind Singh Kunjwal statement) सामने आया है.

जांच के लिए तैयारः पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने कहा कि राज्य के पहले विधानसभा अध्यक्ष प्रकाश पंत से लेकर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के कार्यकाल तक नियुक्ति हुई है. यही नहीं पूर्व के कई मुख्यमंत्रियों ने अपने परिवार के लोगों को भी विधानसभा में नियुक्ति देने की सिफारिश की है. क्योंकि यह परिपाटी शुरू से चली आ रही है. गोविंद सिंह कुंजवाल ने कहा सरकार सभी नियुक्तियों की उच्चस्तरीय जांच करा सकती है.

Leave a Response