उत्तराखंडताजा खबरें

उत्तराखंड पहुंची ‘कोविशील्ड’ वैक्सीन, 94 हजार फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगेगा टीका

देहरादून: उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कोविशील्ड वैक्सीन पहुंच गई है. जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर विशेष विमान से पहुंचाई गई वैक्सीन को राष्ट्रीय टीका वाहन से देहरादून के कोल्ड स्टोरेज केंद्र में भिजवाया गया. इसके बाद अब विभिन्न जिलों में वैक्सीन को भेजा जाएगा.

प्रदेश में कोरोना वायरस से मुक्ति दिलाने वाली वैक्सीन की पहली खेप पहुंच गई है. ठीक दिन में 2.45 पर विशेष विमान से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर वैक्सीन पहुंची. इसके बाद वैक्सीन की विशेष पैकिंग को राष्ट्रीय टीका वाहन में रखा गया और इसके बाद कड़ी सुरक्षा के साथ वैक्सीन को देहरादून लाया गया. देहरादून में औषधि भंडार स्थित बनाए गए कोल्ड स्टोरेज में फिलहाल वैक्सीन को रखा गया है.

बता दें, उत्तराखंड में 1 लाख 13 हजार वैक्सीन की डोज पहले चरण में भेजी गई हैं, जिसे अब देहरादून से बाकी जिलों में डिस्ट्रीब्यूट किया जाएगा. वैक्सीन को औषधि भंडार स्थित कोल्ड स्टोरेज में लाते वक्त एसडीएम और पुलिस की गाड़ियां भी इसके साथ राष्ट्रीय टीका वाहन को स्कॉट करती रहीं.

प्रदेश में पहले चरण में 94 हजार फ्रंटलाइन वॉरियर्स को टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है. इन सभी का रजिस्ट्रेशन किया गया है, ताकि इन्हें कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जा सके. देश भर की तरह उत्तराखंड में भी 16 जनवरी से कोविशिल्ड वैक्सीन का वैक्सीनेशन किया जाना है.

दून मेडिकल कॉलेज ने भी अपनी संपूर्ण तैयारी कर ली है. कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए दून मेडिकल कॉलेज में चार टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं. इन केंद्रों पर प्रतिदिन 100-100 हेल्थ वर्करों को टीके लगाए जाने हैं.

दून मेडिकल कॉलेज के डिप्टी मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. एनएस खत्री का कहना है कि केंद्र सरकार की ओर से राज्य सरकार को वैक्सीन की आपूर्ति की जा रही है. दून मेडिकल कॉलेज को सीएमओ कार्यालय की ओर से वैक्सीन की सप्लाई की जाएगी. वैक्सीन को सुरक्षित रखने के लिए मेडिकल कॉलेज की ओर से डीप फ्रीजर आईएलआर में दो से आठ डिग्री सेल्सियस में रखने की व्यवस्थाएं बनाई गई है.

विशेष