देश/प्रदेश

29 अप्रैल को खुलेंगे केदारनाथ धाम के कपाट,मार्ग से बर्फ हटाने का काम तेज

रुद्रप्रयाग केदारनाथ पैदल मार्ग से बर्फ हटाने का कार्य युद्धस्तर पर जारी है। 150 श्रमिक मार्ग को दुरुस्त करने में जुटे हैं। इसके लिए बीते रोज 32 श्रमिकों की एक टीम केदारनाथ पहुंची। यह दल केदारनाथ में बर्फ हटाएगी। 29 अप्रैल को धाम के कपाट खोले जाने हैं। ऐसे में प्रशासन का प्रयास है कि मार्ग पर 15 अप्रैल तक आवाजाही शुरू हो जाए।
धाम के कपाट खुलने से पहले केदारनाथ पैदल मार्ग से बर्फ हटाना किसी चुनौती से कम नहीं है। केदारनाथ के प्रमुख पड़ाव गौरीकुंड से केदारनाथ तक 16 किलोमीटर लंबा पैदल मार्ग है। अब तक करीब 13 किलोमीटर हिस्से से बर्फ हटा ली गई है। अभी तीन किलोमीटर रास्ते को साफ करना बाकी है।
केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्यो का जिम्मा संभाल रही वुड स्टोन कंपनी के केदारनाथ प्रभारी मनोज सेमवाल ने बताया कि फरवरी के अंतिम सप्ताह से टीम मार्ग को दुरुस्त करने में जुटी है, लेकिन बीच-बीच में खराब मौसम के कारण इसमें बाधा पड़ती रही। मार्च के आरंभ में भारी बर्फबारी के कारण काम में जुटे श्रमिकों को वापस गौरीकुंड भेजना पड़ा। इसके बाद मार्च के अंतिम सप्ताह से काम दोबारा शुरू किया गया। प्रयास है कि 15 अप्रैल तक आवाजाही शुरू कर ली जाए।
उंन्होंने बताया के केदारनाथ और लिनचोली के बीच दो किलोमीटर मार्ग में करीब 15 से 20 फीट ऊंचे हिमखंड हैं। उन्होंने बताया कि 32 सदस्यों की जो टीम केदारनाथ भेजी गई है वह केदारनाथ की ओर से मार्ग साफ करेगी, जबकि दूसरी टीम लिनचोली की ओर से आगे बढ़ेगी।

विशेष