देश/प्रदेश

कांग्रेस का दामन छोड़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य

कांग्रेस का दामन छोड़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया

 मध्य प्रदेश के कांग्रेस के प्रभावशाली एवं युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज १८ साल बाद कांग्रेस का दामन त्याग दिया और भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। उन्हें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता दिलाई।
“आज हम सबके लिए बहुत खुशी का विषय है और आज मैं हमारी वरिष्ठतम नेता दिवंगत राजमाता सिंधिया को याद कर रहा हूँ। भारतीय जनसंघ और भाजपा दोनों पार्टी की स्थापना से लेकर विचारधारा को बढ़ाने में एक बहुत बड़ा योगदान रहा है। ज्योतिरादित्य आज अपने परिवार में शामिल हो रहे हैं, मैं इनका स्वागत करता हूँ और हार्दिक अभिनन्दन भी करता हूँ।” ………..जेपी नड्डा, अध्यक्ष भाजपा

“मेरे जीवन में दो दिन ऐसे आए, जिन्होंने मेरा जीवन बदल दिया। पहला 30 सितंबर 2001, जिस दिन मैंने अपने पिता को खोया। दूसरी तारीख 10 मार्च 2020, जो उनकी 75वीं वर्षगांठ थी। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि हमारा उद्देश्य जनसेवा होना चाहिए। मेरे पिताजी और मैंने हमेशा इसी पर काम किया। कांग्रेस अब पहले वाली कांग्रेस नहीं रह गई है। कर्जमाफी और रोजगार के मामले पर मध्यप्रदेश सरकार ने अपने वादे पूरे नहीं किए। ट्रांसफर और भ्रष्टाचार का माफिया राज्य में चल रहा है। मेरा मन बहुत व्यथित है। कांग्रेस अब वह पार्टी नहीं है, जिसकी स्थापना हुई थी।” ……………ज्योतिरादित्य सिंधिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए सिंधिया ने कहा कि देश के इतिहास में शायद किसी को भी इतना बड़ा जनादेश नहीं मिला, जितना कि एक बार नहीं दो बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिला है।

भाजपा से ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी में शामिल होते ही राज्यसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार घोषित कर दिया गया है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा हर्ष चौहान को भी भाजपा ने उम्मीदवार बनाया गया है। अभी पार्टी की ओर से इनकी उम्मीदवारी की आधिकारिक घोषणा होना शेष है।

विशेष