उम्मीदें

ITDA द्वारा डेवलप किया हुआ ‘नवनेत्र, ड्रोन एंबुलेंस की तरह काम करता है

देहरादूनः उत्तराखंड आईटीडीए (Information Technology Development Agency) के तहत बनाया गया ड्रोन एप्लीकेशन सेंटर एक तरफ देश की सीमाओं को सुरक्षित करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. दूसरी तरफ तकनीक के जरिए आपदा जैसे बेहद संवेदनशील समय में आधुनिक तकनीकी के जरिए राहत के नए अवसरों को पैदा कर रहा है.

लोकल एंथ्रोपी नियर को भी ट्रेनिंग: उत्तराखंड ड्रोन एप्लीकेशन सेंटर ना केवल सैनिकों को बल्कि टेक्निकल एजुकेशन और लोकल व्यवसाय में भी अपनी बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, जिसमें पॉलिटेक्निक और बीटेक के छात्रों के अलावा लोकल व्यवसायियों को भी ड्रोन ऑपरेशन की ट्रेनिंग दे रहा है, जिसके लिए ITDA कई कोर्स चला रहा है.

‘नवनेत्र’ प्रोग्राम है मोबाइल ग्राउंड कंट्रोल स्टेशन: उत्तराखंड ITDA के तहत ड्रोन एप्लीकेशन सेंटर द्वारा मोबाइल ग्राउंड कंट्रोल स्टेशन को डेवलप किया गया है, जिसका नाम ‘नवनेत्र’ रखा गया है. यह सिस्टम एक तरह से ड्रोन एंबुलेंस की तरह काम करता है, जिसमें ड्रोन ऑपरेशन चलाया जाता है. खासतौर से आपदाग्रस्त क्षेत्र जहां पर की पूरी तरह से कनेक्टिविटी खत्म हो चुकी हो, वहां पर यह मोबाइल ग्राउंड कंट्रोल वाहन पहुंच कर सीधे आपदाग्रस्त इलाके की लाइव किसी भी जगह भेज सकता है. साथ ही इस कंट्रोल स्टेशन में पावर बैकअप लगा हुआ है, जोकि हर वक्त ड्रोन ऑपरेशन को जारी रख सकता है. इसके अलावा इस ग्राउंड कंट्रोल वाहन में ऑन साइड डाटा प्रोसेसिंग, यूनिट लाइव मॉनिटरिंग और इमेज प्रोसेसिंग कंप्यूटर भी लगे हुए हैं जो कि आपदा के समय आपदा के आकलन और राहत बचाव कार्य के लिए बेहद लाभदायक साबित होने जा रहे हैं.

Leave a Response