देश/प्रदेश

इंदिरा गांधी ने गुट निरपेक्ष की अध्यक्ष बन बढ़ाया था देश का मान

देहरादून,  पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी की 102वीं जयंती के अवसर पर कांग्रेसजनों ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। इससे पूर्व कांग्रेसजनों ने महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा के नेतृत्व में इंदिरा मार्केट स्थित इंदिरा गांधी की मूर्ति पर माल्यार्पण किया।

राजपुर रोड स्थित कांग्रेस कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने इंदिरा गांधी द्वारा देश के लिए किए गए बलिदान को याद करते हुए संपूर्ण समाज को उनके उनके बताए मार्ग पर चलने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र व विश्व की महान नेता ने देश की एकता के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर किया। त्याग व बलिदान की प्रतिमूर्ति इंदिरा गांधी ने अपनी प्रतिभा से देश को प्रगति के पथ पर लाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

गरीबी उन्मूलन के साथ-साथ बैंकों का राष्ट्रीयकरण, बीस सूत्रीय कार्यक्रम जैसे विकासोन्मुखी कार्यक्रम शुरू करने के साथ ही सामाजिक समरसता व सद्भाव को मजबूत बनाने की दिशा में कई कार्य किए।

उन्होंने शिमला समझौता करते हुए शांति की दिशा में एक और कदम उठाकर गुट निरपेक्ष आंदोलन की अध्यक्ष निर्वाचित होकर विश्व में भारत के गौरव को बढ़ाया।

वक्ताओं ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने सदैव सांप्रदायिक सौहार्द व भाईचारे का वातावरण बनाने में सफलता प्राप्त की, जबकि आज कुछ विघटनकारी ताकतें फिर से देश को बांटने की ओर ले जाने का काम कर ही हैं।

उनका हमें डटकर मुकाबला करना है। श्रद्धासुमन अर्पित करने वालों में पूर्व विधायक राजकुमार, महामंत्री नवीन जोशी, जिलाध्यक्ष संजय किशोर, राजेंद्र राणा, पूर्व मंत्री अजय सिंह, प्रवक्ता डॉ. आरपी रतूड़ी, पीसीसी सदस्य राजेश शर्मा, प्रदेश सचिव राजेश पांडे, भरत शर्मा, डॉ. विजेंद्र पाल, डॉ. प्रदीप जोशी, नागेश रतूड़ी, महानगर महिला अध्यक्ष कमलेश रमन, नजमा खान आदि कांग्रेसजन शामिल हुए।

विशेष