देश/प्रदेश

असम में ही होगी भारत-जापान शिखर वार्ता

गुवाहाटी : भाजपा नेता हिमंत बिस्वा सरमा ने सोमवार को बताया कि गुवाहाटी में स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है और भारत व जापान के बीच वार्षिक शिखर वार्ता असम में ही होगी.

हेमंत बिस्वा ने सोमवार को मीडिया से कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भड़की हिंसा के बाद राज्य में स्थिति सामान्य हो रही है. इस कड़ी में गुवाहाटी से अब दिन का कर्फ्यू हटा लिया गया है. हालांकि, जब तक स्थिति की समीक्षा नहीं हो जाती, तब तक रात में कर्फ्यू जारी रहेगा.

उन्होंने कहा कि भारत-जापान शिखर सम्मेलन गुवाहाटी में ही होगा, जो यहां उपजी अशांति के मद्देनजर स्थगित कर दी गई थी. पहले यह बैठक 15 व 16 दिसंबर को प्रस्तावित थी.

बिस्वा ने बताया कि प्रधानमंत्री ने फैसला किया है कि गुवाहाटी से कार्यक्रम स्थल को स्थानांतरित नहीं किया जाएगा, लेकिन तारीख बदली जा सकती है.

उन्होंने कहा कि पूरे असम में, बर्बरता और हिंसक घटनाओं के लेकर 136 मामले दर्ज किए गए हैं, जिससे पुलिस द्वारा दर्ज किए गए मामलों की संख्या बढ़कर 190 हो गई है.

सरमा ने कहा कि गुवाहाटी में शंकरदेव कलाक्षेत्र में बर्बरता की गई थी. जांच में पता चला कि घटना में एक कांग्रेस कार्यकर्ता का हाथ है.

गुवाहाटी भीड़ हिंसा को लेकर उन्होंने कहा कि इस हिंसा में ऐसे लोगों की बड़ी भागीदारी है, जो गुवाहाटी के नागरिक नहीं हैं और जो निचले असम के जिलों से आए हैं. वे आंदोलन में भाग लेने के लिए आए हैं या उन्हें किसी प्रकार की रणनीति के तहत यहां लाया गया है. इसकी जांच सरकार द्वारा की जाएगी और जांच के लिए एक-दो दिन में उचित जांच दल की घोषणा कर दी जाएगी.

विशेष