सुनो सरकार

किच्छा में पोकलैंड और जेसीबी मशीनों से जमकर हो रहा अवैध खनन, प्रशासन के दावों की खुली पोल

Illegal mining in kichcha

किच्छा: तराई में बसे जनपद उधमसिंहनगर में इन दिनों खनन माफिया कितने बेखौफ हो गए हैं इसका ताजा उदाहरण जनपद उधमसिंहनगर के किच्छा तहसील क्षेत्र में देखने को मिल रहा है,जहां किच्छा के हरियाणा फार्म क्षेत्र में स्थित गोला नदी में इन दिनों तालाब बनाने की परमिशन के नाम पर खनन माफिया दिनदहाड़े पोकलैंड और जेसीबी मशीनों से गोला नदी का सीना चीर कर एक तरफ उप खनिज की निकासी कर करोड़ों रुपए की काली कमाई के कारोबार को अंजाम दे रहे हैं,वहीं दूसरी तरफ राज्य सरकार को करोड़ों रुपए के राजस्व का चूना भी लगा रहे हैं

कैसे खनन माफिया दिनदहाड़े पोकलैंड और जेसीबी मशीन से गोला नदी का सीना चीर रहे हैं….दरअसल किच्छा के हरियाणा फार्म क्षेत्र में एक सुनियोजित रणनीति के तहत तालाब बनाने की परमिशन लेकर कैसे गोला नदी में पोकलेन और जेसीबी मशीनें उतार कर जमकर अवैध खनन हो रहा है .बड़ा सवाल यह भी उठता है कि आखिरकार नदी में तलाब बनेगा कैसे और ऐसा कौन इंजीनियर है जो नदी के अंदर तालाब बनाने की महारत हासिल रखता है….उधमसिंहनगर में आमतौर पर अवैध खनन का कारोबार चोरी छुपे तो बदस्तूर चलता रहता है पर ऐसा पहली बार हो रहा है कि वैध के नाम पर खुलेआम पुलिस-प्रशासन की नाक के नीचे बेखौफ खनन माफिया गोला नदी में पोकलैंड और जेसीबी मशीन उतार कर अवैध खनन के काले कारोबार को दिनदहाड़े अंजाम दे रहे हैं.

उधर इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए जिले के नवनियुक्त जिलाधिकारी युगल किशोर पंत ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं पर बड़ा सवाल यह उठता है कि किच्छा में दिनदहाड़े बेखौफ खनन माफिया वैध की आड़ नदी में पोकलैंड और जेसीबी मशीन उतार कर खुलेआम करोड़ों रुपए के उप खनिज की निकासी कर रहे हैं तो आखिरकार स्थानीय पुलिस-प्रशासन इस पूरे मामले में चुप्पी क्यों साधे हुए हैं. 

Leave a Response