विविध

‘आगरा के लाल किले की बेगम मस्जिद में दबी हैं श्रीकृष्ण की मूर्तियां’

मंदिर मस्जिद के विवाद में एक नया नाम और जुड़ गया है. अब दावा हुआ है कि आगरा के लाल किले की बेगम मस्जिद में श्रीकृष्ण के विग्रह (मूर्तियां) दफन हैं. अब इनको निकालने की मांग हुई है. सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में इसको लेकर याचिका दायर हुई है.

इससे पहले मथुरा के कृष्णजन्मभूमि-ईदगाह मस्जिद विवाद, वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद विवाद पर अलग-अलग कोर्ट में सुनवाई हो रही है. कुतुब मीनार का मामला भी कोर्ट में है. इसके अलावा कल ही अजमेर दरगाह को हिंदू मंदिर बताया गया है.

यह याचिका श्रीकृष्ण जन्मभूमि विवाद मामले से ही जुड़ी है, जिसपर सिविल जज सीनियर डिवीजन पहले से सुनवाई कर रहे हैं. यह याचिका मथुरा के एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह, श्यामलाल पंडित और मनमोहन दास ने दायर की है.

आगरा के लाल किले का मामला पहुंचा कोर्ट

ताजा मामला आगरा के लाल किले से जुड़ा है. याचिकाकर्ताओं की मांग है कि आगरा के लाल किले की बेगम साहिबा मस्जिद में भगवान श्रीकृष्ण के विग्रह हैं, जिनको निकाला जाना चाहिए. गुजारिश की गई है कि श्रीकृष्ण के विग्रह की मूल गर्भगृह की जगह पर प्राण प्रतिष्ठा की जानी चाहिए.

याचिका के मुताबिक, भगवान श्रीकृष्ण (केशव देव) के मंदिर को औरंगजेब ने तोड़कर भगवान के विग्रहों को बेगम साहिबा की मस्जिद की सीढ़ियों में दफन कराया था. याचिकार्ता ने कहा कि हिंदू विग्रह को पैरों तले खूंदने से कृष्ण भक्तों की भावनाएं आहात हो रही हैं.

ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग का दावा

विश्वेश्वर मंदिर-ज्ञानवापी मस्जिद का मामला पहले से वाराणसी जिला कोर्ट में है. इसपर अगली सुनवाई 30 मई को होनी है. हिंदू पक्ष का दावा है कि ज्ञानवापी मस्जिद वाली जगह पर ही पुराना विश्वेश्वर मंदिर (काशी विश्वनाथ मंदिर) था. वहां एक कुएं में मिले पत्थर को शिवलिंग भी बताया जा रहा है.

Leave a Response