देश/प्रदेश

कोरोना वायरस को लेकर एसटीएच पर आइबी की नजर

हल्द्वानी, एहतियात बरतने के लिए कोरोना वायरस से निपटने की तैयारियों को हर स्तर से चेक किया जा रहा है। यहां तक कि इंटलीजेंस ब्यूरो (आइबी) की टीम भी सतर्क हो गई है।

बुधवार को टीम एसटीएच पहुंची और उपलब्ध सुविधाओं के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल की। इसके अलावा वायरस के डर से लोग मीट खाने से परहेज करने लगे हैं। इसके चलते मीट कारोबार आधा हो गया है।

आइबी की टीम चिकित्सा अधीक्षक प्रो. अरुण जोशी के कार्यालय में पहुंची और तैयारियों के बारे में जानकारी जुटाई। इस पर चिकित्सा अधीक्षक ने उन्हें बताया कि एसटीएच में आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है।

कोरोना के सिंपटम से मिलते-जुलते लक्षण वाले मरीजों की जांच के लिए अलग से व्यवस्था की गई है, जिससे कि अन्य मरीजों पर इसका किसी तरह का प्रभाव न पड़े। अलग-अलग जगह वार्ड भी बनाए गए हैं।

डॉक्टरों व स्टाफ को भी संक्रमित मरीजों के इलाज से संबंधित जानकारी भी दे दी गई है।

कोरोना वायरस के डर से 50 फीसद गिरा मीट कारोबार

 

चीन में फैले कोरोना वायरस का डर अब हल्द्वानी के व्यापार पर भी पडऩे लगा है। वायरस के डर से लोगों ने चिकन-मटन खाना कम कर दिया है। इसका सीधा असर मीट कारोबारियों के धंधे पर पड़ रहा है।

सामान्य दिनों की अपेक्षा कारोबार में 50 फीसद तक गिरावट आ गई है। इससे मीट कारोबारी परेशान हो गए हैं। मंगलपड़ाव के मीट कारोबारी मुज्जफर ने बताया कि इन दिनों मीट की बिक्री कम हो गई है।

चीन में फैले वायरस के चलते लोग मीट खाने से परहेज कर रहे है। जहां पहले 30 से 40 किलो मुर्गे का मीट बिक रहा था। वहीं, पिछले दस दिनों से केवल 10 से 15 किलो ही मुर्गा बिक रहा है।

बुधवार को पूरे दिन केवल दो किलो ही बिका। वहीं इंदिरा नगर के मीट कारोबारी शाहिद ने बताया कि शादी के सीजन में मीट की डिमांड काफी बढ़ जाती है, लेकिन इन दिनों कारोबार पूरी तरह से प्रभावित हो गया है।

केवल करीब 10 किलो मीट ही बिक रहा है। वहीं, होटल कारोबारियों ने भी मीट की डिमांड कम कर दी हैं।

विशेष