राष्ट्रीय

तमिलनाडु में AIADMK की बैठक में हुआ जोरदार हंगामा, पन्नीरसेल्वम पर फेंकी बोतलें

चेन्नई : अन्नाद्रमुक की आम परिषद की बैठक में गुरुवार को हंगामे के बीच सभी 23 प्रस्ताव खारिज कर दिए गए और घोषणा की गई कि परिषद सदस्यों की एकमात्र मांग संयुक्त समन्वयक ई.के. पलानीस्वामी के पक्ष में पार्टी के लिए एकल नेतृत्व प्रणाली पेश करना है. पार्टी के संयोजक पन्नीरसेल्वम जब मंच से जाने वाले थे, तब उनके बहुत करीब एक बोतल आकर गिरी. बोतल पन्नीरसेल्वम पर गिरने ही वाली थी, लेकिन उनके निजी सुरक्षा अधिकारी ने अपनी बाहें उनके आसपास फैलाकर उन्हें बचा लिया. मंच से उतरकर जब वह निकास द्वार की ओर जा रहे थे तब एक और बोतल उनके पास गिरी.

बैठक के समय पन्नीरसेल्वम और पलानीस्वामी समर्थकों के बीच जबरदस्त नारेबाजी देखने को मिली. दोनों नेताओं के समर्थकों के बीच जोरदार बहस हुई और दोनों पक्षों ने अपने-अपने नेताओं का पूरा समर्थन किया. पन्नीरसेल्वम और पलानीस्वामी जब बैठक स्थल पर पहुंचे तो दोनों के समर्थकों ने उनका स्वागत करते हुए नारेबाजी की. दूसरी ओर, द्रमुक के अध्यक्ष व तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अन्नाद्रमुक में चल रही अंदरूनी लड़ाई का जिक्र किया और कहा कि जो उनकी पार्टी को खत्म करना चाहते थी, वो अब अपने खात्मे की ओर बढ़ रही है.

बैठक छोड़कर चले गए पन्नीरसेल्वम : वहीं, पन्नीरसेल्वम, परिषद सदस्यों के एकल नेतृत्व की मांग पर अड़े रहने और अपने प्रतिद्वंद्वी पलानीस्वामी का पक्ष लिए जाने के बाद बैठक छोड़कर चले गए. पलानीस्वामी के समर्थकों ने जैसे ही उन्हें एक सजा हुआ ताज, एक तलवार और राजदंड भेंट किया, पन्नीरसेल्वम और अन्नाद्रमुक उप सचिव वैथीलिंगम समेत उनके समर्थक बैठक से चले गए. शोर-गुल के बीच परिषद की बैठक 40 मिनट तक चली.

Leave a Response