देश/प्रदेश

अस्पताल पूरा, इंतजाम अधूरा

रुद्रपुर: औद्योगिक जिले के नाम से विख्यात ऊधमसिंह नगर श्रमिकों के स्वास्थ सुविधा के मामले में पिछड़ा हुआ है। जिले में 97 करोड़ की लागत से कर्मचारी राज्य बीमा निगम का अस्पताल जरूर बना दिया गया है, लेकिन इंतजाम अभी अधूरे हैं।

जिसका खामियाजा आम श्रमिक को भुगतना पड़ रहा है। नवनिर्मित भारी भरकम भवन वीरान पड़ा हुआ है। जबकि चिकित्सक व अन्य स्टॉफ की समस्या से अभी अस्पताल का संचालन सुचारु नहीं हो सका है।

सिडकुल की स्थापना की गई तो यहां पूरे देश से श्रमिकों का आना शुरू हो गया। काम के लिए जिले में आने वाले इन्हीं श्रमिकों के चलते कुछ स्थानीय लोगों को भी रोजगार मिलने लगा।

फिर भी चिकित्सा व्यवस्था के नाम पर श्रमिकों के पास सिर्फ जिला अस्पताल का ही सहारा है। जबकि केंद्र सरकार के सहयोग से 97 करोड़ की लागत से मल्टीस्पेशलिटी आधुनिक अस्पताल बन कर तैयार हो गया है, लेकिन अधूरे इंतजाम के चलते अस्पताल में श्रमिकों को भटकना पड़ रहा है।

राजनैतिक भाषणों में बड़े-बड़े दावे करने वाले नेता अब अस्पताल की अव्यवस्था पर चुप हैं। जबकि चुनावी लाभ के लिए अस्पताल का उद्घाटन दो बार किया जा चुका है। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. दीपशिखा शर्मा का कहना है कि अस्पताल की बेहतरी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

विशेष