देश/प्रदेश

ज्वालापुर में ढाई लाख की आबादी होम क्वारंटाइन

हरिद्वार, ज्वालापुर में जमाती के कोरोना संक्रमित की पुष्टि होते ही बुधवार की सुबह करीब एक लाख की आबादी को पहले ही होम क्वारंटाइन के तौर पर घरों में कैद कर दिया गया था। इसके तहत छह मोहल्ले होम क्वारंटाइन किए गए थे। इसके बाद देर रात समूचे ज्वालापुर को सील कर दिया गया। इस तरह करीब ढाई लाख की आबादी होम क्वारंटाइन हो गई। सरकारी गाड़ियों के काफिले की आवाजाही सुनकर सुबह लोगों की आंख खुली। इसके बाद सबसे पहले मस्जिद के लाउडस्पीकर से कोरोना की दहशत की आवाज कानों में पड़ी। लोगों को यह हिदायत दे दी गई कि पूरा इलाका सील कर दिया गया है और कोई भी अपने घर से बाहर निकलने की जुर्रत न करे।
इधर, आइसालेट किए गए कोरोना संदिग्धों की संख्या बढ़कर 58 हो गई है। लॉकडाउन में जरूरी सामान की खरीदारी के लिए सुबह सात बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक की छूट दी जा रही थी। लोग काफी हद तक इस रूटीन में ढल चुके थे। वहीं जमातियों को क्वारंटाइन करने का सिलसिला भी करीब 10 दिन से चल रहा है। हरिद्वार शहरी क्षेत्र की आबादी इसे भी आम प्रक्रिया मान चुकी थी।
यहां के लोगों ने पहले यह किसी ने नहीं सोचा था कि अगली सुबह उनके आस-पास ही कोरोना संक्रमण की सूचना मिलेगी।

यहां के लोगों ने पहले यह किसी ने नहीं सोचा था कि अगली सुबह उनके आस-पास ही कोरोना संक्रमण की सूचना मिलेगी। रुड़की सिविल अस्पताल में भर्ती जमाती में कोरोना की पुष्टि होते ही एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, सीओ सिटी अभय सिंह और ज्वालापुर कोतवाल योगेश सिंह देव पांवधोई मोहल्ले में पहुंचे। पूरे इलाके का जायजा लेकर छह एंट्री प्वाइंट चिह्नित किए गए।

विशेष