उम्मीदें

स्वास्थ्य विभाग ने काशीपुर में सहारा अस्पताल को किया सील

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने नगर क्षेत्र के निजी अस्पतालों का निरीक्षण कर दो अस्पतालों में भारी अनियमितता पाए जाने पर उन्हें सील कर दिया। इसके अलावा एक निजी अस्पताल पर 25 हजार का जुर्माना लगाया गया है। बुधवार को एसडीएम अभय प्रताप सिंह, तहसीलदार यूसुफ अली के साथ एसीएमओ डॉ. तपन शर्मा ने दढ़ियाल मार्ग स्थित सहारा मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल का निरीक्षण किया।

इस दौरान अस्पताल में तीन मरीज भर्ती थे लेकिन मौके पर कोई डॉक्टर मौजूद नहीं मिला। ओटी में भी मानक के अनुसार कुछ भी नहीं मिला। पड़ताल में अभिलेख भी पूरे नहीं पाए गए। टीम ने तीनों मरीजों को एलडी भट्ट उप जिला चिकित्सालय में भर्ती कराते हुए उक्त अस्पताल को एसडीएम और तहसीलदार की मौजूदगी में सील कर दिया। डॉ. शर्मा ने बताया कि सहारा हॉस्पिटल को इससे पहले मई में एक महिला की गलत इलाज के दौरान मौत के मामले में सील किया गया था।

इसके बाद टीम ने ग्राम मिस्सरवाला में एक निजी अस्पताल में छापा मारा। वहां भी अस्पताल में कोई डॉक्टर तैनात नहीं मिला न ही अस्पताल का पंजीकरण ही हुआ था। अस्पताल में तीन महिलाएं भर्ती मिलीं। तीनों को सरकारी अस्पताल शिफ्ट कराने के लिए एंबुलेंस मंगाई गई लेकिन तीनों महिलाओं के परिजन उन्हें घर ले गए। अस्पताल में मौजूद स्टाफ टीम को कोई अभिलेख नहीं दिखा सका। इस पर टीम ने अस्पताल को सीज कर दिया।

पहाड़गंज में दुकान में चल रहा था क्लीनिक
इसके बाद टीम मुरादाबाद रोड स्थित सेवा अस्पताल पहुंची। यहां मरीजों की जांच रिपोर्ट अधूरी और ऑपरेशन थिएटर में अनियमितता को देखकर एसीएमओ डॉ. शर्मा ने नाराजगी जताई। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को चेतावनी देकर 25 हजार का जुर्माना लगाकर सभी अनियमितताओं को समय से दुरुस्त करने के निर्देश दिए। टीम में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अमरजीत साहनी, डॉ. कमलजीत सिंह आदि मौजूद रहे।

सीएम पोर्टल में शिकायत मिलने के बाद बुुधवार को प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने रुद्रपुर में कई स्थानों पर क्लीनिकों का निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकतर क्लीनिक संचालक गायब मिले जबकि पहाड़गंज में एक क्लीनिक दुकान के भीतर संचालित होता मिला।

एसीएमओ डॉ. हरेंद्र मलिक व नायब तहसीलदार भरत लाल ने दूधियानगर स्थित प्रियंका डेंटल क्लीनिक का निरीक्षण किया। क्लीनिक में कोई डॉक्टर नहीं मिला जिस पर क्लीनिक को बंद करवाकर मौजूद लोगों से संचालक को दस्तावेज समेत कार्यालय में उपस्थित होने के निर्देश दिए। पहाड़गंज में झोलाछापों के क्लीनिक चलाने की शिकायत पर टीम ने निरीक्षण किया लेकिन पता चला कि उक्त परिवार सऊदी अरब गया हुआ है।

पहाड़गंज में अरशद नाम से एक क्लीनिक बिना बोर्ड के दुुकान में संचालित होता मिला। मौके पर संचालक नहीं मिला तो टीम ने वहां मौजूद लोगों से संचालक को दस्तावेजों के साथ कार्यालय में उपस्थित होने के लिए कहा। इसके बाद टीम ने हरदेव नर्सिंग होम का भी निरीक्षण किया लेकिन वहां कोई गड़बड़ी नहीं मिली।

Leave a Response