देश/प्रदेश

कोरोना संक्रमण के निपटने के लिए स्वास्थ्य बिभाग ने वर्षों से बांड पर कार्यरत 21 डाक्टरों को किया नियमित

टिहरी: कोरोना संक्रमण के निपटने और स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए जिले को आठ नए एमबीबीएस चिकित्सक मिल गए हैं, जबकि वर्षों से बांड पर कार्यरत 21 डाक्टरों को नियमित कर दिया है।

जिले में वर्तमान में डाक्टरों के 226 पद सृजित है, जिनमें से अभी तक 113 नियमित और 67 संविदा/बांड पर तैनात थे। उनमें भी अधिकांश सुगम स्थानों पर ही तैनात हैं। अब सरकार ने कोरोना संक्रमण के बीच आठ एमबीबीएस डाक्टरों की नई तैनाती करते हुए पहले से बांड पर कार्यरत 21 डाक्टरों को भी नियमित कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग ने सभी 29 डाक्टरों को स्वास्थ्य केंद्रों में तैनाती दे दी है।

इनमें से सीएचसी चंबा में तीन, छाम, चौंड, थत्यूड़ में दो-दो, प्रतापनगर, खाड़ी में एक-एक एलोपैथिक चिकित्सालय नकोट, खंडोगी, कांडीखाल मगरौं, घनसाली में एक-एक, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य न्यूली, बूढाकेदार, टकोली, धारकोट, लंबगांव, जाखणीधार, हिंसरियाखाल में एक-एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नरेंद्रनगर, कीर्तिनगर में एक-एक, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र छेरपधार, पिलखी आदि शामिल हैं। साथ ही विभाग को उम्मीद है कि दो-तीन दिन के अंदर एक दर्जन और डाक्टरों के सरकार से मिलने की उम्मीद है। सीएमओ डा. मीनू रावत का कहना है कि नियुक्त किए गए डाक्टरों को रिक्त पदों के सापेक्ष नियुक्तियां दे दी गई है।

विशेष