देश/प्रदेश

हर्षिल पुलिस के जवान संसाधनों को जुटाकर सीमांत क्षेत्र में मजदूरों को राशन सामग्री पहुंचा रहे

उत्तरकाशी: भारत तिब्बत अंतरराष्ट्रीय सीमा की अंतिम थाने की हर्षिल पुलिस हमेशा से ही जनसरोकार से जुड़ी रहती है. बर्फबारी की विषम परिस्थितियां हो या बरसात में आपदा के समय भी हर्षिल पुलिस हमेशा ही अपने कार्यों के लिए चर्चा में रही है. वर्तमान में कोरोना से इस जंग में भी हर्षिल पुलिस सीमित संसाधनों के बीच बर्फ से ढके गंगोत्री धाम में साधुओं को बचाते नजर आ रहे हैं. जिससे कि सीमान्त क्षेत्र में कोरोना का कहर न पहुंच सके.

हर्षिल पुलिस जहां बर्फबारी के दौरान बेजुबान मवेशियों के लिए चारा जुटाती नजर आ रही है तो वहीं कोरोना से जंग में भी हर्षिल पुलिस पीछे नहीं है. हर्षिल पुलिस जनसरोकार के कार्यों की एसपी उत्तरकाशी भी सराहना कर चुके हैं. कोरोना की जंग के बीच हर्षिल थाने के एसओ दीनदयाल रावत और पुलिसकर्मी सीमान्त क्षेत्र में सीमित संसाधनों के बीच अपने स्तर से कोरोना से बचने के लिए इन दिनों शीतकाल में गंगोत्री धाम में रहने वाले साधुओं को मास्क और सैनेटाइजर भेज रहे हैं.

हर्षिल पुलिस के जवान संसाधनों को जुटाकर सीमांत क्षेत्र में बागवानी के लिए रहने वाले मजदूरों को राशन समाग्री पहुंचा रहे हैं. साथ ही उन्हें सोशल डिस्टेंस और कोरोना से बचने की उपायों की जानकारी दे रहे हैं, जिससे कि सीमान्त क्षेत्र में कोरोना का कहर न पहुंच सके. इतना ही नहीं हर्षिल पुलिस ने मां गंगा के शीतकालीन प्रवास मुखबा में गंगा मंदिर को भी सैनेटइज किया है.

विशेष