राजनीति

हरीश रावत ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से की मुलाकात

देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से उनके आवास पर मुलाकात की। उन्होंने मुनस्यारी व धारचूला में आपदा के असर को देखते हुए एसडीआरएफ की ज्यादा टीम लगाने समेत सात सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सुझावों पर कार्रवाई का भरोसा दिया।

पूर्व मुख्यमंत्री ने पिथौरागढ़ में आपदा प्रभावित क्षेत्रों में बचाव व राहत कार्यों  के संबंध में विचार-विमर्श किया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य में आपदा प्रबंधन तंत्र को मजबूत किया गया है। आपदा की स्थिति में रेस्पॉंस टाइम कम से कम करने का प्रयास किया गया है। पिथौरागढ़ में तत्काल बचाव कार्य संचालित किए गए। प्रभावितों को राहत पहुंचाई गई। सात सूत्रीय ज्ञापन में मदकोट-जौलजीवी मोटर मार्ग को दुरुस्त करने के लिए कुछ मशीनें बढ़ाने, प्रभावितों को आर्थिक मदद, जिलाधिकारियों को अधिक मदद को अधिकृत करने की मांग की गई। इस अवसर पर सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह मौजूद रहीं।

इस पत्र में पार्टी ने प्रवासी उत्तराखंडियों को रोजगार, उनके तकनीकी ज्ञान व शैक्षिक योग्यता के आधार पर डाटा बेस तैयार करने, सौर ऊर्जा की योजनाओं से किसानों को जोड़ने समेत विभिन्न सुझाव दिए हैं। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि सरकार ने प्रवासियों के लिए कई ऋण योजनाएं स्वीकृत की हैं। काम-धंधा छोड़कर राज्य लौटे प्रवासियों व उनके परिवारों के सामने गुजर-बसर की चुनौती है। ऐसे में उन्हें ऋण नहीं, बल्कि आर्थिक मदद की दरकार है। उन्होंने प्रवासियों के मामले में सरकार की नीति और कोरोना से लड़ने के तरीके पर सवाल दागे।

विशेष