राष्ट्रीय

JEE Mains के Hacker ने सीबीआई के सामने किया बड़ा खुलासा

इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम JEE Mains में घोटाले के मास्टरप्लान का खुलासा हुआ है. पकड़े गए रूसी हैकर ने सीबीआई के सामने सच उगला है. CBI की गिरफ्त में आए हैकर का नाम है- मिखाइल शर्गिन. उसने बताया कि हैकर्स ने किस तरह से जेईई मेन जैसी बड़ी नेशनल लेवल ऑनलाइन परीक्षा में चीटिंग कराई? इन हैकर्स ने पूरे इंटरनेट सिस्टम को अपने कंट्रोल में कर लिया था. Russian Hacker ने जो बताया उसे जानकर आप भी कहेंगे कि ये ‘डिजिटल मुन्नाभाई’ पनप रहे हैं.

मामला जेईई मेन एग्जाम 2021 का है. सीबीआई के अनुसार इन हैकर्स ने करीब 820 स्टूडेंट्स को ऑनलाइन एग्जाम में चीटिंग कराई थी. NTA ने देशभर में निर्धारित टेस्ट सेंटर्स पर परीक्षा आयोजित की थी. बताया जाता है कि जिन कंप्यूटर्स पर एग्जाम लिया जाता है, वे Control Restricted होते हैं. यानी उन्हें हैक करना आसान नहीं.

JEE Mains ऑनलाइन एग्जाम में चीटिंग कैसे हुई?

सीबीआई की जांच में पता चला कि Mikhail Shargin ने सिस्टम की सिक्योरिटी तोड़ दी. उसे हैक करके उन कंप्यूटर सिस्टम्स में घुस गया जिनपर स्टूडेंट्स एग्जाम दे रहे थे. उसके बाद एग्जाम हॉल में बैठकर परीक्षा दे रहे छात्रों के पास उनके कंप्यूटर स्क्रीन पर रिमोट एक्सेस देने का मैसेज आया.

स्टूडेंट्स ने Remote Access दे दिया. ये एक्सेस देते ही स्टूडेंट्स की कंप्यूटर स्क्रीन उन हैकर्स को दिखने लगी. अब हैकर्स उसे कंट्रोल कर सकते थे. उस पर दिख रहे क्वेश्चन सॉल्व कर सकते थे. अब हैकर ने पेपर सॉल्व करने के लिए कुछ टीचर्स और कोच को हायर कर रखा था. जैसे ही रिमोट एक्सेस मिला, परीक्षा केंद्रों से कहीं दूर बैठे वो टीचर और कोच स्टूडेंट्स के बदले एग्जाम देने लगे.

जांच में कुछ एक्गाम सेंटर्स का भी नाम आया. सीबीआई के अनुसार सोनीपत, हरियाणा के एक जेईई मेन एग्जाम सेंटर ने हैकर्स को रिमोट एक्सेस दिया था.

Leave a Response