विविध

फर्जी ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाकर ड्रग्स की सप्लाई का गुजरात ATS ने किया पर्दाफाश

गुजरात एटीएस ने फर्जी ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाकर पूरे राज्य में ड्रग्स की सप्लाई करने वाले गिरोह को पकड़ा है. पुलिस ने अहमदाबाद में वस्त्रापुर इलाके के अपार्टमेंट में छापेमारी कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया. ये आरोपी ड्रग्स सप्लाई के दौरान खुद को बचाने के लिए ई-कॉमर्स कंपनी के बॉक्स का इस्तेमाल करते थे. जिसमें रखकर वे ड्रग्स की डिलीवरी करते थे. छापेमारी में पुलिस ने 8 लाख रुपये का ड्रग्स बरामद किया.

गुजरात एटीएस को जानकारी मिली थी कि कुछ लोग वस्त्रापुर स्थित अपार्टमेंट के एक फ्लैट किराए पर लेकर पूरे गुजरात में ड्रग्स बेचने का काला कारोबार कर रहे हैं. आरोपी ने फर्जी ई-कॉमर्स की वेबसाइट बना रखी है. जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर छापा मारते हुए फ्लैट से 19.85 ग्राम एम्फ़ैटेमिन, 60.53 ग्राम ओपिओइड डेरिवेटिव और 321.52 ग्राम भांग बरामद की.

पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया है कि वे नकली ई-कॉमर्स वेबसाइट के जरिए ड्रग्स का ऑर्डर ले रहे थे. फिर ड्रग्स को बॉक्स और कवर में छिपा कर उसे कूरियर के जरिए भेजते थे, ताकि किसी को संदेह ना हो. छापेमारी के दौरान गुजरात एटीएस को पता चला कि ड्रग्स रैकेट का मास्टरमाइंड आकाश कनुभाई विनजावा है जो अमरेली के राजुला में रहता है. एटीएस की टीम ने तुरंत स्थानीय पुलिस को सूचना दी और आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया.

तीनों आरोपी पिछले दो साल से नशीली दवा बेचने के का काम करते थे. आरोपी हिमाचल और पंजाब के ड्रग माफिया से ड्रग्स मंगवाते थे और गुजरात में वेबसाइट के जरिए राज्य भर में बेच रहे थे.

Leave a Response