उत्तरकाशी

कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के बयान से नाराज ग्राम प्रधान बैठे धरने पर

उत्तरकाशी: जनपद में विभिन्न ब्लॉकों के प्रधानों ने पंचायत क्वारंटाइन सेंटर में एक दिवसीय धरना दिया. प्रधानों का आरोप है कि सोशल मीडिया पर कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का एक बयान डाला गया है. जिसमें कैबिनेट मंत्री का कहना है कि प्रधानों को क्वारंटाइन सेंटरों की व्यवस्थाओं के लिए पर्याप्त बजट दिया गया है. जबकि प्रधानों के पास क्वारंटाइन सेंटरों की व्यवस्था के लिए किसी प्रकार का कोई बजट नहीं है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस खबर से गांव में विरोध का माहौल बन रहा है.

बता दें कि गुरुवार को प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष प्रताप रावत के नेतृत्व में भटवाड़ी ब्लॉक के ओंगी गांव की प्रधान पार्वती रमोला और हीना प्रधान आरती मखलोगा राजकीय प्राथमिक विद्यालय मनेरी में बने पंचायत क्वारंटाइन सेंटर पर 2 घंटे के सांकेतिक धरने पर बैठे. तो वहीं अन्य गांव के प्रधान अपने-अपने गांव के पंचायत क्वारंटाइन सेंटरों में धरने पर बैठे. जहां पर प्रधानों ने अपने व्हाट्सअप ग्रुप में फोटो डालकर समर्थन दिया.

वहीं ग्राम प्रधानों का कहना है कि सोशल मीडिया पर प्रधानों को मिले बजट की अफवाह से उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. जबकि उनके पास पंचायत क्वारंटाइन की व्यवस्थाओं के लिए किसी प्रकार का कोई बजट नहीं आया है. प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष और मनेरी प्रधान प्रताप रावत का कहना है कि सोशल मीडिया पर कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का एक चैनल को दिया गया बयान वायरल हो रहा है. जिसमें वह कह रहे हैं कि प्रधानों को क्वारंटाइन सेंटर के लिए उचित बजट दिया गया है.

साथ ही एक न्यूज पोर्टल में लिखा गया है कि प्रधानों के लिए पांच लाख का बजट स्वीकृत किया गया है. वहीं भटवाड़ी ब्लॉक के ओंगी गांव की प्रधान पार्वती रमोला का कहना है कि प्रधान ग्रामीणों के साथ मिलकर निस्वार्थ भाव से पंचायत क्वारंटाइन में अन्य राज्यों से आए गांव के क्वारंटाइन में रह रहे लोगों की सेवा कर रहे हैं.