उत्तराखंड

FCI का दावा- कॉर्बेट पार्क में 163 पेड़ों की अनुमति पर काटे 6000 पेड़

उत्तराखंड के जिम कार्बेट नेशनल पार्क में पेड़ों की कटाई को लेकर फारेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया (FSI) ने एक बड़ी खबर ब्रेक की है. एफएसआई ने दावा किया है कि यहां टाइगर सफारी बनाने के लिए केवल 163 पेड़ नहीं, बल्कि एक झटके में 6000 से अधिक पेड़ काट दिए गए. यह सबकुछ प्रदेश सरकार की अनुमति से किया गया, लेकिन दावा किया गया था कि महज 163 पेड़ों की कटाई की अनुमति दी गई. यह सभी पेड़ एक साल पहले काटे गए थे. वहीं एफएसआई ने अब अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट की सेंट्रल इंपावर्ड कमेटी में अपनी रिपोर्ट दाखिल कर दी है.

वनों की कटाई से विवाद में प्रोजेक्ट

कार्बेट नेशनल पार्क में टाइगर सफारी परियोजना इन्हीं पेड़ों की कटाई की वजह से विवादों में आ गया था. इसमें पर्यावरण कार्यकर्ता गौरव बंसल ने एक नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथारिटी में 26 अगस्त 2021 को याचिका दाखिल की थी. उन्होंने अवैध तरीके से पेड़ों की कटाई का आरोप लगाते हुए उत्तराखंड सरकार की भ्रत्सना की थी. इसमें उन्होंने दोषी अधिकारियों की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय करने की मांग की थी.

Leave a Response