देश/प्रदेश

फरीदाबाद मर्डरः 2018 से ही निकिता के पीछे पड़ा था तौसीफ, पिता ने कराई थी FIR

फरीदाबाद में निकिता नाम की युवती की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या होने के बाद दिल्ली से सटे इस शहर का माहौल गरमा गया है. निकिता के घर वाले हत्यारों के एनकाउंटर की मांग को लेकर सड़क पर बैठ गए हैं और उन्होंने ऐलान कर दिया है कि जब तक आरोपियों को सजा नहीं मिलेगी तब तक वो अपनी बेटी का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे.

निकिता को इन आरोपियों ने उस वक्त अपना शिकार बनाया जब वो परीक्षा देकर अपने कॉलेज से घर लौट रही थी। बीकॉम फाइनर ईयर की छात्रा निकिता को यह जरा भी आभास नहीं था कि अब वो कभी घर नहीं लौट पाएगी और रास्ते में कुछ मनचले उसे जबरदस्ती उठाकर ले जाने की साजिश में जुटे हुए हैं। अग्रवाल कॉलेज की छात्रा निकिता फाइनल ईयर की परीक्षा देकर जैसे ही कॉलेज से निकली बल्लभगढ़ में कुछ मनचले युवक उसे अपनी कार में जबरन खींचने की कोशिश करने लगे, इस परिस्थिति में भी निकिता डरी नहीं और बहादुरी से उनका विरोध करती रही.

निकिता की सहेली ने भी अपनी दोस्त को बचाने की भरसक कोशिश की लेकिन उसी वक्त आरोपी के दोस्त बंदूक दिखाकर उसे धमकाने लगा। निकिता बंदूक देखकर भी नहीं डरी और अपराधियों का विरोध करती रही। निकिता अकेले ही उन दोनों बदमाशों से जूझती रही और जब आखिरकार दोनों आरोपी युवक उसे कार में जबरन खींचने में नाकाम रहे तो गुस्से में उसे गोली मारकर मौके से फरार हो गए.

मृतक युवती के परिजनों की मानें तो आरोपी सालों से उनकी बेटी का पीछा कर रहा था. परिजनों के मुताबिक साल 2018 में तौसीफ नाम के युवक के खिलाफ उन्होंने शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन बाद में मामला सुलझ गया था. युवती के पिता ने कहा कि उन्हें पुलिस से इंसाफ चाहिए, वहीं मृतक के मामा ने कहा, ये सीधा सीधा लव जिहाद का मामला है.

विशेष