देश/प्रदेश

चंपावत में पर्यावरणीय संरक्षण जांच समिति ने किया निरीक्षण

चम्पावत: चारधाम ऑल वेदर रोड परियोजना के अन्तर्गत मिल रही लगातार शिकायत के बाद पर्यावरणीय संरक्षण की जांच समिति ने आज टनकपुर से स्वाला मंदिर तक मार्ग का निरीक्षण किया. वहीं, ये टीम स्वाला में सड़क बाधित होने के कारण समिति वाया सूखीढ़ाग-रीठा साहिब से होते हुए लोहाघाट पहुंची थी.

बता दें कि चारधाम मार्ग परियोजना के अन्तर्गत लगातार मिल रही शिकायत के बाद सर्वोच्च न्यायालय ने पर्यावरण संरक्षण को जांच समिति गठित करने के आदेश दिये थे. जिसके बाद पर्यावरण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जांच समिति गठित कि गई.

जांच समिति ने आज टनकपुर से स्वाला मंदिर तक सड़क के चौड़ीकरण का निरीक्षण किया. इस दौरान टीम ने डंपिंग जोन की स्वीकृति और डंपिंग जोन की क्षमता, डंपिंग जोन में डाल गये मलबे का भी आकलन किया.

साथ ही कार्यदायी संस्थाओं से भी मलबे के निस्तारण, सरकारी तथा वन विभाग और राजस्व की स्वीकृति और उससे होने वाले नुकसान के सम्बन्ध में जानकारी ली.

वहीं, इस जांच समिति में हाई पावर कमेटी पीपुल्स साइंन्स इंस्टिट्यूट संस्था के प्रो. रवि चोपड़ा की समेत 11 लोग शामिल हैं. यह जांच कमेटी ऑल वेदर रोड के कारण पड़ रहे पर्यावरणीय प्रभावों का निरीक्षण कर जल्द ही अपनी रिपोर्ट मंत्रायल को सौंपेगी. इस निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी सुरेन्द्र नारायण पाण्डे, उप जिलाधिकारी अनिल गर्ब्याल और कई अधिकारी मौजूद रहे.

विशेष