सुनो सरकार

नैनीताल के बीडी पांडे अस्पताल के वित्तीय अनिमितता में 21 लाख रुपये का गबन

नैनीताल। शहर के बीडी पांडे अस्पताल में बीते वित्तीय वर्ष में हुए विकासकार्यों में गड़बड़ी का मामला सामने आया है। अस्पताल के वर्तमान पीएमएस ने ही पुराने कार्यकाल में हुए कार्यों पर उंगली उठाई है। उनके पत्रचार के बाद सीए के आडिट में करीब 21 लाख की एंट्री कैश बुक से गायब है। जिसे क्लेरिकल मिस्टेक माना जा रहा है। उनकी ओर से महानिदेशक को पत्र लिखकर मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की गई है।

बता दे कि एक जुलाई को डॉ वीके पुनेड़ा ने बीडी पांडे अस्पताल के पीएमएस का चार्ज लिया था। जिसके बाद उन्होंने वित्तीय गड़बड़ी का अंदेशा जताया था। उन्होंने बताया कि चार्ज लेने के बाद अस्पताल का हिसाब किताब मेल नहीं खाने पर उन्होंने बीते दिनों वित्तीय जांच की मांग की थी। जिस पर लोकल सीए से जांच कराई गई।

जांच रिपोर्ट में अस्पताल में हुए खर्च और भुगतान का ब्योरा तो मिल गया। मगर करीब 21 लाख का हिसाब अस्पताल की कैश बुक में चढ़ा हुआ नहीं मिला। खर्च का हिसाब कैश बुक में नहीं चढ़ा होना सीए द्वारा लिपिकीय स्तर की खामी बताई जा रही है। फिर भी मामले की उच्च स्तरीय जांच के लिए महानिदेशक को पत्र लिखा गया है। उच्च स्तरीय जांच के बाद ही मामला स्पष्ट हो पायेगा।

 

Leave a Response