देश/प्रदेश

पेयजल निगम के अधिकारी का वेतन काटा

गोपेश्वर: जनता दरबार में जिलाधिकारी स्वाति एस. भदौरिया ने फरियादियों की समस्याएं सुनी। जनता दरबार में पहुंचे फरियादियों ने खाता खतौनी, परिवार पेंशन, सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा, अनुसूया मेले के दौरान विभिन्न व्यवस्थाओं आदि से जुड़ी सात शिकायतें जिलाधिकारी के समक्ष रखी। जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को इन शिकायतों को तत्काल निस्तारित करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने जनता दरबार में प्राप्त होने वाली शिकायतों का त्वरित गति से निस्तारण करने तथा निस्तारण की कार्यवाही से शिकायतकर्ता को भी अवगत कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

जनता दरबार में नमामि गंगे और पेयजल निगम से संबंधित शिकायतों की समीक्षा के दौरान विभागीय अधिकारियों के उपस्थित न रहने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए डीएम ने संबंधित अधिकारियों का एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश जारी किए।

आरडब्लूडी से जुड़ी शिकायतों को देखते हुए अगले जनता दरबार में ईई आरडब्लूडी को भी उपस्थित रहने को कहा। जंगली जानवरों से फसलों को हो रहे नुकसान से जुड़ी शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही करने पर वन विभाग के अधिकारी को कड़ी फटकार लगाते हुए तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

जोशीमठ के लक्ष्मी प्रसाद सती ने उनकी भूमि के खाता खतौनी से उनके पिता का नाम हटाए जाने की शिकायत की। हल्द्वापानी निवासी आरएस बिष्ट ने सरकारी भूमि पर अवैध ढंग से कब्जा, जोशीमठ की गोदांबरी देवी ने उनके पति की मृत्यु के बाद बैंक से पारिवारिक पेंशन बंद किए जाने, रीना देवी ने संस्कृत स्कूल कमेडा में माली के पद पर नौकरी, देवेंद्र सिंह बिष्ट ने 11 व 12 नवंबर को मंडल में आयोजित होने वाले माता अनुसूया मेले के दौरान मार्ग पर पेयजल व्यवस्था सुचारु करने, सस्ते गल्ले की दुकानों में अतिरिक्त राशन भंडारण, मेले के दौरान विद्युत आपूर्ति, यात्रियों की सुविधा के लिए मंडल में एटीएम स्थापित करने आदि विभिन्न व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी को पत्र भी सौंपा।

विशेष