Latest Newsउत्तराखंड

लगातार फैकल्टियों का नौकरी छोड़कर जाने से अल्मोड़ा मेडिकल कालेज की मान्यता पर संशय

अल्मोड़ा : मेडिकल कालेज में अब फिर से कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच स्वास्थ्य सुविधाओं और नए सत्र में कक्षाओं के संचालन का दोहरा बोझ पड़ने लगा है। यहां लगातार कम हो रही फैकल्टी के बीच नेशनल मेडिकल काउंसलिंग (एनएमसी) के निरीक्षण की उम्मीद जताई जा रही है। जबकि प्रथम लेटर आफ परमिशन (एलओपी) के तहत मान्यता के लिए 10 फैकल्टी कम हैं। इधर, देहरादून से पहुंचे डिप्टी डायरेक्टर डा. महेंद्र कुमार ने भी विभिन्न निर्देश दिए।

पिछले सत्र में भी कालेज को मान्यता मिलने के साथ यहां कक्षाओं के संचालन की उम्मीद जगी थी। कालेज में प्रथम एलओपी के तहत कक्षाओं के संचालन के लिए कुल 52 फैकल्टी की जरूरत है, लेकिन वर्तमान में यहां सिर्फ 42 फैकल्टी हैं। ऐसे में अगर लंबे इंतजार के बाद एनएमसी की टीम कालेज पहुंची भी तो मान्यता मिलने पर संशय है। देहरादून से पहुंचे डिप्टी डायरेक्टर डा. महेंद्र कुमार ने भी यहां निरीक्षण की तैयारियों का जायजा लिया। उनके यहां पहुंचने से निरीक्षण की उम्मीद एक बार फिर जगी है।

Leave a Response