देश/प्रदेश

स्मार्ट बनने लगा दून

देहरादून,  पूरे दून की एक जगह से निगरानी करने के लिए बनाया गया इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर ‘सदैव दून’ जनता को समर्पित कर दिया गया है।

इसके साथ सेंटर से संचालित होने वाली कई सेवाएं भी शुरू कर दी गई हैं। हालांकि, सेंटर की सभी सेवाओं को शुरू करने के लिए मई 2020 तक का समय रखा गया है।

आइटी पार्क स्थित आइटीडीए भवन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का लोकार्पण किया।

उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी परियोजना में दून का चयन भले ही चौथे चरण में किया गया, लेकिन स्मार्ट सिटी के कार्य शुरू कराने में दून ने 100 शहरों में 25वां स्थान हासिल कर लिया है।

इसके लिए मुख्यमंत्री ने देहरादून स्मार्ट सिटी लि. के सीईओ डॉ. आशीष श्रीवास्तव और उनकी टीम की सराहना की।

मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि स्मार्ट सिटी के तहत प्रस्तावित इंटीग्रेटेड ग्रीन बिल्डिंग का नाम अटल बिहारी वाजपेयी भवन रखा जाएगा।

उन्होंने कंट्रोल सेंटर से अपेक्षा की कि वर्ष 2021 में होने वाले कुंभ की व्यवस्था की निगरानी में भी इससे मदद मिलेगी।

इस अवसर पर टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह, महापौर सुनील उनियाल गामा, मसूरी विधायक गणेश जोशी, राजपुर रोड विधायक खजान दास, धर्मपुर विधायक विनोद चमोली, अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, राधा रतूड़ी, डीजीपी अनिल रतूड़ी, डीजीपी (लॉ एंड ऑर्डर) अशोक कुमार आदि उपस्थित रहे।

स्मार्ट सिटी के सीईओ डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि दून के सभी प्रवेश स्थलों समेत अहम स्थानों पर 470 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। सेंटर के लोकार्पण के साथ 40 कैमरों ने काम करना भी शुरू कर दिया है।

दून में पुलिस की ओर से लगाए गए करीब 200 कैमरों को भी कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से जोडऩे की कार्रवाई शुरू की जा रही है।

स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत शहरभर में 500 स्मार्ट बिंस (कूड़ेदान) लगाए जाएंगे। कूड़ेदान के 70 फीसद भरते ही इनमें लगा सेंसर कंट्रोल सेंटर को जानकारी भेज देगा ताकि उन्हें समय रहते खाली किया जा सके।

दून में ऐसे कैमरे लगाए जा रहे हैं, जो रेड लाइट जंप करने वाले वाहनों की नंबर प्लेट को पहचान कर उसकी जानकारी कंट्रोल सेंटर को स्वत: ही भेज देंगे।

इसके साथ ही इनसे ओवर स्पीड की जानकारी मिलेगी। ऐसे सिग्नल स्वत: ही संचालित होंगे ताकि जिस लेन में अधिक वाहन खड़े हैं, वहां ग्रीन सिग्नल जारी कर दिया जाए। कुल मिलाकर 133 एएनपीआर कैमरा लगाए जाएंगे, 58 रेड लाइट जंप व चार ओवर स्पीड की निगरानी करेंगे।

देहरादून स्मार्ट सिटी लि. के सीईओ डॉ. श्रीवास्तव ने कहा कि 10 वार्डों में एबीडी (एरिया बेस्ड डेवलपमेंट/क्षेत्र आधारित विकास) प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है।

इसमें एमडीडीए पार्क का सौंदर्यीकरण किया जा रहा है और एमडीडीए के लिए ऑटोमेशन सर्विस के लिए कई अन्य काम सम्मिलित किए गए हैं।

विशेष