देश/प्रदेश

डीएम ने पूर्णागिरि मेले की तैयारियों को लेकर की बैठक, कहा-मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को मिलें बेहतर सुविधाएं

टनकपुर, जेएनएन : 11 मार्च से 15 जून तक होने वाले उत्तर भारत के सुप्रसिद्ध मां पूर्णागिरि मेले की तैयारिया को लेकर बुधवार को जिलाधिकारी एसएन पांडे ने टनकपुर तहसील में मेले से जुड़े विभागों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से 97 दिन चलने वाले मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को हर संभव सुविधा देने के निर्देश दिए।

डीएम ने विभाग वार सौपें गए दायित्वों की समीक्षा करते हुए सुरक्षा की दृष्टि से मेला क्षेत्र एवं टनकपुर बैराज स्थित एसएसबी चैक पोस्ट में सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश पुलिस को दिए। रोडवेज एवं एआरटीओ को मेले में आवश्यकतानुसार बसों एवं टैक्सियों का संचालन कराने के निर्देश दिए ताकि श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या न हो। कहा कि सभी बसों, टैक्सियों एवं अन्य वाहनों में किराया सूची अनिवार्य रूप से चस्पा की जाए। डीएम ने किराया सूची की फ्लैक्स भैरव मंदिर व ठूलीगाड़ में भी लगाने के निर्देश दिए। उपजिलाधिकारी दयानंद सरस्वती ने बताया कि मेला क्षेत्र में बड़ी गाड़ियों के लिए बूम में, छोटी गाड़ियों के लिए ठुलीगाड़ तथा भैरव मंदिर केपास टीआरसी में पार्किग स्थल बनाए गए हैं। इसके अलावा बूम पार्किग में पांच तथा ठूलीगाड़ पार्किग में तीन रैन बसेरों का निर्माण किया गया है।

भैरव मंदिर से पूर्णागिरि मंदिर तक 22 किमी तक रात में लाइटें जलेंगी। तीनों पार्किग स्थलों में पेयजल के लिए हैंडपंपों की व्यवस्था की गई है। डीएम ने एसडीएम से यह सुनिश्चित करने को कहा कि पानी किसी भी स्थिति में सड़क में न बहे। सीएमओ डॉ. आरपी खंडूरी ने बताया कि मेले में आने श्रद्धालुओं को चिकित्सा सुविधा के लिए ठुलीगाड़ एवं काली मंदिर में चिकित्सकों की टीम तैनात रहेगी। ईई लोनिवि को मेले क्षेत्र में संभावित दुर्घटनाग्रस्त स्थानों को शीघ्र ही ठीक कराने के निर्देश भी बैठक में दिए गए।

 

विशेष