उत्तराखंड

जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने निजमुला-गौणा-पाणा-ईराणी मोटर मार्ग का निरीक्षण किया

जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने निजमुला-गौणा-पाणा-ईराणी मोटर मार्ग का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मोटर मार्ग पर कलवट, पुस्ता व नाली निर्माण, संकरे मोडों का सुधारीकरण, भूस्खलन क्षेत्रों का ट्रीटमेंट तथा पगना में अवरूद्व मोटर मार्ग को यातायात हेतु तत्काल सुचारू करने के निर्देश पीएमजीएसवाई के अधिकारियों को दिए।

जिलाधिकारी ने कहा कि निजमुला-गौणा-पाणा-ईराणी मोटर मार्ग अवरूद्व होने से क्षेत्र के कई गांव प्रभावित होते है। उन्होंने पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता को मार्ग को सुचारू रखने हेतु नियमित रूप से जेसीबी तैनात करने के निर्देश दिए। ताकि मार्ग अवरूद्व होने पर जल्द से जल्द सुचारू किया जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि पगना में भारी भूस्खलन के कारण दो स्थानों पर अवरूद्व सड़क मार्ग को एक सप्ताह में सुचारू किया जाए।

गौणा गांव के निकट भूस्खलन से राजकीय इंटर कॉलेज गौणा और पठेला तोक के परिवारों को बने खतरे के दृष्टिगत जिलाधिकारी ने भूस्खलन के ट्रीटमेंट हेतु राज्य आपदा न्यूनीकरण में शीघ्र प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। वही पगना में किलोमीटर 16 और 20 में बडे क्षेत्र में हो रहे भूस्खलन के ट्रीटमेंट के लिए भी एसडीएमएफ में प्रस्ताव उपलब्ध कराने को कहा। पाणा-ईराणी मोटर मार्ग के किलोमीटर 20 में वीरगंगा पर बन रहे 60 मीटर स्पॉन पुल निर्माण कार्यो की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता को निर्देशित किया कि संबधित ठेकेदार से निर्माण कार्यो को जल्द से जल्द पूरा कराना सुनिश्चित करें। कहा कि पुल निर्माण के लिए पर्याप्त संख्या में मजदूर एवं मशीनें लगाए और 31 मार्च तक पाणा गांव तक सड़क निर्माण कार्य पूरा करें। फेस-1 के कार्यो के अवशेष कार्यो गुणवत्ता के साथ पूरा कराया जाए। उन्होंने एसडीएम को निर्देशित किया कि पुल एवं सड़क निर्माण कार्यो का समय-सयम पर स्थलीय निरीक्षण किया जाए और प्रत्येक सप्ताह निर्माण कार्यो की प्रगति रिपोर्ट उपलब्ध करें। भेगडा गदेरे में पुल निर्माण कार्यो का निरीक्षण करते हुए जिलाधिकारी ने रूफ एंड ब्रिज कंपनी के अधिकारियों को निर्माण कार्यो में तेजी लाने के निर्देश।

इस दौरान निजमुला, गौणा, पाणा, ईराणी, झिंझी, पगना के स्थानीय निवासियों ने जिलाधिकारी के समक्ष पेयजल, जीर्णशीर्ण विद्यालय एवं आंगनबाडी भवनों की मरम्मत, पैदल रास्तों के सुधारीकरण, पैदल पुल आदि समस्याएं रखी। जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि समस्याओं का जल्द निराकरण किया जाएगा। क्षेत्र भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी ने दुर्मी ताल का निरीक्षण भी किया। उन्होंने कहा कि दुर्मी ताल को पर्यटन के दृष्टिगत विकसित करने के लिए सभी प्रयास किए जाएंगें। इस दौरान जिलाधिकारी ने दुर्मी में स्थित फारेस्ट गेस्ट हाउस परिसर में पौधरोपण भी किया।

निरीक्षण के दौरान एसडीएम अभिनव शाह, पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता परशुराम चमोली, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी एनके जोशी, भाजपा जिला अध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, प्रधान संगठन के अध्यक्ष मोहन नेगी सहित स्थानीय लोग मौजूद थे।

Leave a Response